Breaking News

हाईकोर्ट ने DGP मुकुल गोयल को इस मामले में लगाई कड़ी फटकार, SP को हटायें या जबरन करें सेवानिवृत्त

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मैनपुरी में छात्रा अनुष्का पांडेय की फांसी के मामले में उत्तर प्रदेश के डीजीपी मुकुल गोयल को जमकर फटकार लगाई है। कोर्ट ने डीजीपी से कहा है कि तत्कालीन एसपी को हटायें या जबरन सेवानिवृत्त करें। कोर्ट ने जवाहर नवोदय विद्यालय मैनपुरी की छात्रा की फांसी के बाद पंचनामे की वीडियो रिकार्डिंग देखी। हाईकोर्ट ने पुलिस के लापरवाही भरे रवैये पर कड़ी नाराजगी जाहिर की, साथ ही डीजीपी को पूरी तैयारी के साथ कर कोर्ट में आने का निर्देश दिया। महेंद्र प्रताप सिंह की जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश एम एन भंडारी तथा न्यायमूर्ति ए के ओझा की खंडपीठ ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट देखने से लगता है कि छेड़छाड़ की गई है। गले में फांसी के निशान संदेह पैदा कर रहे हैं। कोर्ट ने डीजीपी मुकुल गोयलसे कहा है कि वह कार्रवाई करें, नहीं तो कोर्ट को कड़ा कदम उठाना पड़ेगा।

 

यह है पूरा मामला

मैनपुरी में नाबालिग छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसके कपड़ों व शरीर पर स्पर्म मिले थे। इसके बावजूद पुलिस टीम अपराधियों तक पहुंचने में विफल रही है। 24 अगस्त 2021 के आदेश के अनुपालन में केस डायरी के साथ एसआईटी के सदस्य हाजिर हुए। 16 सितंबर 2019 की घटना की एफआईआर 17 जुलाई 2021 को दर्ज कराई गई। हाईकोर्ट ने कहा कि गंभीर आरोप के बावजूद तीन माह बाद भी अभियुक्तों से पूछताछ नहीं की गई। यह पुलिस की बड़ी लापरवाही है। विवेचक ने देरी का कारण भी नहीं बताया। छात्रा स्कूल में फांसी पर लटकी मिली। मां ने परेशान करने व मारपीट कर फांसी पर लटकाने का गंभीर आरोप लगाया है। बताया जा रहा है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फांसी के निशान के सिवाय शरीर पर चोट नहीं मिले हैं। पंचनामा की फोटोग्राफी नहीं है। सरकारी वकील ने बताया कि एसपी मैनपुरी का तबादला कर दिया गया है। विभागीय जांच कार्यवाही शुरू की गई।

16 सितंबर को नवोदय विद्यालय भोगांव में अनुष्का की मौत हुई थी। छात्रा का शव फांसी पर लटका मिला। इस घटना में अनुष्का के पिता राजेंद्र पांडेय की ओर से विद्यालय के छात्र सहित पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल की अध्यक्षता एसआईटी जांच कर रही है। जांच टीम में शामिल एसपी मैनपुरी अजय कुमार ने अनुष्का कांड का खुलासा करने के लिए अब तक 21 लोगों के पॉलीग्राफी टेस्ट कराए हैं। 12 लोगों का डीएनए कराने के लिए रक्त के नमूने लिए गए हैं। जांच पूरी तरह निष्पक्ष हो इसके लिए एसपी ने 10 अन्य लोगों के डीएनए कराने का फैसला लिया था।

इन पर है हत्या का आरोप

नवोदय की प्रधानाचार्य सुषमा सागर, स्कूल की वार्डन तथा अनुष्का के साथ कक्षा 11 में पढ़ने वाले छात्र अजय राजपूत के खिलाफ हत्या का मुकदमा भोगांव थाने में दर्ज कराया गया था। हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने से नाराज परिजनों ने से नगरपालिका के शहीद पार्क में भूख हड़ताल भी की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *