Breaking News

कानपुर हिंसा के मास्टर माइंड हयात जफर के तीन करीबियों पर चला केडीए का डंडा, तीन बिल्डिंगें की सील

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल और मुख्यमंत्री के कार्यक्रम स्थल से करीब 60 किमी. दूर शहर में हुई हिंसा के मास्टरमाइंड जफर हयात हाशमी से संपर्क रखने वाले तीन पर सरकार शिकंजा कसना शुरू कर दी है। इसी कड़ी में आज उसके तीन करीबियों की तीन बिल्डिंगें कानपुर विकास प्राधिकरण ने सील कर दी।

प्राधिकरण की टीम नई सड़क के विश्वनाथ खत्री हाते में पहुंची जहां सलीम ऊर्फ जॉनी वाकर नाम के शख्स की बिल्डिंग को दोबारा सील कर दिया। अधिकारियों की टीम की माने तो इस बिल्डिंग को पहले ही सील किया जा चुका था लेकिन दोबारा निर्माण कराया जा रहा था। जिसके बाद आज फिर से इसे सील करने की कार्रवाई की गई। इस दौरान टीम के साथ पुलिस और आरएएफ टीम भी मौजूद रही।

अंदर खाने से यह भी बात निकल कर सामने आ रही है कि कानपुर विकास प्राधिकरण की यह कार्यवाही जफर हयात हाशमी के बिल्डर दोस्त मोहम्मद वसी के संबंधों के मद्देनजर की गई। केडीए की टीम ने आनन फानन में बिल्डिंग को सील कर पोस्टर चस्पा किया और किसी भी तरह के निर्माण को करने पर सख्त कार्रवाई करने की बात कही। बताया जा रहा है कि ताबड़तोड़ कार्रवाई के पीछे कानपुर हिंसा के आरोपी हयात जफर के इन लोगों से पैसों का लेनदेन है।

इसके बाद केडीए की टीम ने चमनगंज क्षेत्र के प्रेम नगर में स्थित एस एच मलिक की निर्माणाधीन बिल्डिंग को सील कर दिया। इस बिल्डिंग में काम हो रहा था और बाहर बोर्ड लगा था की बिल्डिंग का मानचित्र केडीए के द्वारा स्वीकृत है। जबकि बिल्डिंग में मानकों को दरकिनार कर निर्माण कराया जा रहा था। केडीए की टीम ने मौके पर पहुंचकर बिल्डिंग की सीलिंग की कार्रवाई की। इस दौरान स्थानीय सर्किल की पुलिस के साथ आरएएफ के जवान भी मौजूद रहे।

इस बिल्डिंग का निर्माण भी हाजी मोहम्मद वसी के द्वारा कराया जा रहा था। वहीं जाजमऊ में भी केडीए ने मानकों के विपरीत बन रही हाजी वसी की बिल्डिंग को सील कर दिया। केडीए के ओएसडी अवनीश सिंह ने बताया कि केडीए ने रूटीन कार्रवाई के तहत तीनों बिल्डिंग को सील करने की कार्रवाई की है। पुलिस हिंसा के मास्टर माइंड हयात जफर हाशमी के बिल्डर से सम्बंधों की जांच की जा रही है। यह जानकारी जरूर है कि विश्वनाथ खत्री हाते में जिस बिल्डिंग को सील किया गया वहां असामाजिक तत्व इक्कठा हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *