Breaking News

आपकी जिंदगी में ये बदलाव लाएगा लॉकडाऊन 4.0, रियायतों के बीच करना होगा बंदिशों का पालन

कोरोना वायरस से बचाव के लिए देशभर में लागू किए गए लॉकडाऊन का चौथा चरण शुरू होने वाला है। इस लॉकडाऊन को नए रंग रूप, नए नियमों व छूट के साथ लागू किया जा रहा है। हालांकि आधिकारिक रूप से इन नियमों व छूट को लेकर कोई घोषणा नहीं की गई है लेकिन कयासों की बात करें तो इस लॉकडाउन में पहले से ज्यादा छूट मिलेगी। जैसे कि रेल सेवाओं के साथ कुछ घरेलू उड़ानें भी शुरू हो सकती हैं। सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन तय करने का अधिकार राज्यों को दे सकती है। हो सकता है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट को शर्तों के साथ इजाजत संभव हो जाए। इसके अलावा ऑटो रिक्शा और कैब एग्रीगेटरों को शर्तों के साथ इजाजत दी जा सकती है। उन्हें अधिकतम 2 यात्रियों को बैठाने की अनुमति दी जा सकती है। साथ ही घरेलू उड़ानों को भी मंजूरी दी जा सकती है बशर्ते कि जहां से फ्लाइट जानी हो और जिस जगह पर उसे पहुंचनी है, वे दोनों संबंधित राज्य इसके लिए राजी हों। केंद्र तो सभी घरेलू उड़ानों को शुरू करना चाहता है लेकिन कई राज्य इसके विरोध में हैं।

लॉकडाऊन 4.0 को लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विभिन्न अधिकारियों के साथ बैठक की। करीब 5 घंटे चली लंबी बैठक में लॉकडाऊन 4.0 की रियायतों पर चर्चा हुई। बैठक में मौजूद एक अधिकारी ने बताया कि ग्रीन जोन पूरी तरह से खुल जाएगा। ऑरेंज जोन में पाबंदियां बेहद कम होंगी। सख्ती सिर्फ कंटेनमेंट जोन तक सीमित रहेगी। इसके अलावा रेड जोन में भी सैलून, नाई और चश्मे की दुकानों को छूट मिल सकती है। ट्रेन, बस और मेट्रो सेवाएं शुरू हो सकती है। दुकानों की बात करें तो उन्हें खुलवाने के लिए ऑड-ईवन फॉर्मूला लागू हो सकता है। हालांकि फैक्ट्रियों के लिए राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करना होगा कि कोरोना से एहतियात के लिए यहां सारे इंतजाम किए गए हों। इसके अलावा हार्डवेयर की दुकानें और बाइक रिपयेरिंग की दुकानें भी खोले जाने के आसार हैं।

lockdown 4.0 guidelines: lockdown 4 mein kya kya allow, lockdown ...

गृह मंत्रालय के एक आधिकारी के मुताबिक, हर किसी को  सोशल डिस्टेंसिंग और साफ-सफाई का ध्यान रखना होगा और सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा। इससे लोगों को संक्रमण से बचाव में आसानी होगी और साथ ही आरोग्य सेतु ऐप के जरिए  लोगों के स्वास्थ्य को लेकर बेहतर व्यवस्था की जा सकेगी। मेट्रो में क्यूआर कोड लागू करने और एंट्री गेट पर आरोग्य सेतु ऐप जांचने की प्लानिंग बन रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *