Breaking News

वीडियो कॉल को लेकर गृह मंत्रालय ने जारी किया दिशा-निर्देश, कभी ना करे ये गलतियां

टेक्नोलॉजी के इस दौर में ऑनलाइन फ्रॉड के जाल में आए दिन लोग फंस रहे हैं. हर रोज साइबर सेल में ऐसे धोखाधड़ी के मामले दर्ज होते हैं. बड़ी संख्या में ऑनलाइन ठगी के केस सामने आने लगे हैं. जो लोग टेक्नोलॉजी फ्रेंडली नहीं हैं, साइबर अपराधी उन्हें निशाना बनाने के लिए कई तरह के ऑनलाइन तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं. लगातार बढ़ती ऐसी घटनाओं को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने साइबर फ्रॉड से बचने के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं. आइए जानते हैं कि आप किस तरह से ऑनलाइन ठगी के शिकार होने से बच सकते हैं.

सरकार और तमाम बैंक अपने-अपने स्तर पर लोगों को साइबर क्राइम से बचने के लिए सचेत कर रहे हैं. साइबर अपराधी आजकल वीडियो कॉल से लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं. इससे बचने के लिए गृह मंत्रालय ने दिशा निर्देश बताया है.

1. गृह मंत्रालय ने अपने निर्देश में कहा है कि किसी भी अनजान नंबर से वीडियो कॉल स्वीकार न करें.

2. वीडियो कॉल के दौरान किसी अजनबी या दोस्त द्वारा किए गए किसी भी अनैतिक/ अभद्र अनुरोध को स्वीकार करने से बचें.

3. साइबर धोखाधड़ी करने वालों द्वारा ऐसे वीडियो सत्र की स्क्रीन रिकॉर्डिंग का दुरुपयोग ब्लैकमेल या धमकी के उद्देशय से किया जा सकता है.

4. इस तरह की धोखाधड़ी के मामले में, आप नजदीकी पुलिस स्टेशन को रिपोर्ट कर सकते हैं या राष्ट्रीय साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल www.cybercrime.gov.in पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

5. कुछ एप्‍लीकेशन कैमरे का दुर्भावनापूर्ण इस्‍तेमाल जासूसी या निगरानी करने के लिए कर सकते हैं. उचित यही होगा कि जब लैपटॉप का प्रयोग न किया जा रहा हो, तो वेब कैम को ढक कर रखें.

मैसेज में आए लिंक पर क्लिक करने से बचें

इससे पहले गृह मंत्रालय ने मोबाइल नंबर पर आने वाले मैसेज (SMS) से हो रही धोखाधड़ी के बारे में सचेत किया था. कई बार ठगों द्वारा लोगों को उनके बैंक अकाउंट में नॉमिनी को जोड़ दिए जाने की बात कही जाती है और कहा जाता है कि कुछ मिनटों के बाद नॉमिनी के खात से आपके खाते में पैसा ट्रांसफर हो सकता है. इसके साथ आपको क्लिक करने के लिए एक लिंक भी आता है. आप इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी बैंक द्वारा ऐसे मैसेज नहीं भेजे जाते हैं. ऐसे लिंक पर क्लिक करने के बाद आप साइबर धोखाधड़ी के शिकार हो सकते हैं और आपके खाते से पैसे की निकासी हो सकती है.

गृह मंत्रालय की तरफ से साइबर दोस्त ने ट्वीट कर बताया कि- ऐसे मैसेज आपके साथ फ्रॉड करने के लिए साइबर क्रिमिनल्स की एक ट्रिक हो सकती है. हमेशा अपने बैंक से वेरीफाई करें और ऐसे लिंक्स पर क्लिक करने से बचें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *