Breaking News

लॉकडाउन में लोगों के कपड़े धो रही हैं राष्ट्रीय महिला फुटबॉलर, 4 राज्यों में जीत का लहराया था परचम

दुनिया में कोरोना वायरस ने ऐसा डंक मारा है, जिसका असर सीधा लोगों की जिंदगी पर पड़ा है. बता दें कि कोरोना संकट के चलते अधिकांश देशों में लॉकडाउन लगाया गया है. लेकिन इन दिनों देश में भुखमरी की समस्या भी प्रकट हो रही है, इसी बीच खिलाड़ियों को भी कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है. जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं. दरअसल बिहार के नरकटियागंज (Narkatiaganj) की राष्ट्रीय महिला फुटबॉलर मोनी भी इन दिनों आर्थिक परेशानियों से जूझ रही हैं. मोनी अपने पिता के संग लोगों के कपड़े धो रही हैं, जिससे कि उन्हें दो वक्त की रोटी नसीब हो सके. किसी ने सोचा नहीं था कि इस महामारी की वजह से लोगों को यह दिन भी देखने पड़ेंगे. एक राष्ट्रीय महिला फुटबॉलर भी इस महामारी का दंश झेल रही है. नदी घाट पर कपड़े धोना, उन्हें सुखाना और इस्त्री करना मोनी की दिनचर्या में शामिल हो गया है, हालांकि नियमित रूप से वह घर पर ही फुटबॉल की प्रेक्टिस कर लेती है।

बिहार के पश्चमी चम्पारण जिले में नरकटियागंज हरदिया चौक की रहने वाली महिला फुटबॉल खिलाड़ी मोनी अखिल भारतीय महिला फुटबॉल में दो-दो बार चुनी गई हैं. वह वर्ष 2018 में डिब्रूगढ़, आसाम और 2019 में कटक, उड़ीसा में आयोजित अखिल भारतीय फुटबॉल प्रतियोगिता में मेडल ले चुकी हैं. इतना ही नहीं मोनी बिहार के टीपी वर्मा महाविद्यालय में स्नातक प्रथम खंड की छात्रा भी हैं.

 

मोनी का कहना है कि नियमित रूप से सुबह वह घर पर अभ्यास करती हैं. परिवार की माली हालत अच्छी नहीं है. चार भाई-बहनों के बीच पिता की कमाई पर परिवार की परवरिश मुश्किल होते देख सोनी ने पुश्तैनी धंधे में हाथ बंटाना शुरू किया. वह कहती हैं कि कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में स्वच्छता बहुत बड़ी चीज है.

मोनी के कोच और नरकटियागंज टाउन क्लब के सचिव सुनील वर्मा बताते हैं कि मोनी काफी प्रतिभावान खिलाड़ी है. लेकिन हर बार उन्हें आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ता है. हालांकि नरकटियागंज की महिला फुटबॉलरों को स्थानीय लोगों का तो सहयोग मिलता है, लेकिन आज तक किसी जनप्रतिनिधि या पदाधिकारी ने कोई सहयोग नहीं किया, न ही सरकार के पास गरीब प्रतिभावान खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने की कोई योजना है. बता दें कि खिलाड़ी मोनी कुमारी नगर के हरदिया चौक के रहनेवाले प्रमोद बैठा की दूसरी संतान हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *