Breaking News

प्रवासी मजदूरों की वापसी पर सीएम योगी का प्लान, रोजगार के बाद किया अब ये नया ऐलान

देश में कोरोना महामारी का दौर अपने चरम पर है, वहीं इस वायरस की वजह से पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. हालांकि पिछले कुछ महीनों से जब से देश में लॉकडाउन लागू हुआ है प्रवासी मजदूरों के भी पलायन की खबरें सामने आई हैं. बहरहाल इस बीच लॉकडाउन में दूसरे राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के श्रमिकों की वापसी के लिए योगी सरकार लगातार कारगर कदम उठा रही है. अधिकारियों से बातचीत के दौरान योगी ने कहा कि मजदूरों की वापसी के लिए निःशुल्क ट्रेनों की व्यवस्था कराई जाए. बता दें कि टीम 11 की बैठक में सीएम योगी ने अधिकारियों को ये दिशा निर्देश जारी किए हैं.

मीटिंग में स्वास्थ्य सुविधाओं पर चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने सभी जनपदों में पल्स ऑक्सीमीटर की उपलब्धता पर सन्तोष जताया. साथ ही सभी जिलों में इन्फ्रारेड थर्मामीटर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए. सीएम योगी ने कहा कि माइक्रोप्लानिंग करते हुए टेस्टिंग लैब व्यवस्था को बेहतर बनाया जाए. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश वापस आने के इच्छुक कामगारों/श्रमिकों की सूची संबंधित राज्य सरकारों से प्राप्त की जाए ताकि इनके लिए निःशुल्क ट्रेनों की व्यवस्था कराई जा सके.

थर्मामीटर उपलब्ध कराने के निर्देश

coronavirus-

बैठक के दौरान सीएम योगी ने कहा कि अस्पतालों में पीपीई किट, एन-95 मास्क, ट्रिपल लेयर मास्क, ग्लव्स, सेनिटाइजर के साथ-साथ स्ट्रेचर और व्हीलचेयर की भी पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. साथ ही चिकित्साकर्मियों को वेंटिलेटर के संचालन के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाए.

मालूम हो कि पूरे देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ां 1,74,000 के पार पहुंच गया है, जबकि 4,971 लोग इस दुनिया को अलविदा कह चुके हैं. वहीं अगर राहत की बात करें तो 82,370 लोगों को रिकवर किया जा चुका है यानि कि उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. वहीं इस कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र और गुजरात है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *