Breaking News

न्‍यूजीलैंड में बाढ़ से हालात हुए गंभीर, कई पुल भी टूटे

न्यूजीलैंड के कैंटरबरी इलाके में लगातार जारी मूसलाधार बारिश के चलते आई बाढ़ से हालात गंभीर हो गए हैं। सोमवार को यहां सैकड़ों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। बचाव अभियान के दौरान कुछ लोगों को निकालने के लिए हेलीकॉप्टर की मदद भी ली गई। यहां सोमवार को कुछ जगहों पर 40 सेंटीमीटर (16 इंच) बारिश होने के बाद आपात स्थिति की घोषणा की गई है। सेना के जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन जेक फेबर ने बताया कि दारफील्ड शहर में पेड़ पर चढ़ा एक व्यक्ति बाढ़ के पानी में कूद गया था और तैरकर सुरक्षित बाहर आना चाहता था, लेकिन वह बाढ़ के पानी में बह गया। बाढ़ में कई मवेशी भी बह गए हैं। सेना के हेलीकॉप्टर की मदद से उसका पता लगाया गया और बाढ़ के पानी से सुरक्षित बाहर निकाला गया। इसी तरह ऐसे ही बाढ़ से घिरी एक कार की छत से एक बुजुर्ग दंपती को भी हेलीकॉप्टर से सुरक्षित बचा लिया गया। सेना ने 50 से अधिक लोगों को निकालने में मदद की। इस दौरान एनएच-90 सैन्य हेलीकॉप्टर से रात के दौरान कई लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला गया।


न्यूजीलैंड की यात्रा पर आए ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने पत्रकारों से कहा कि वे बाढ़ प्रभावित लोगों के बारे में सोचकर चिंतित हैं। उन्होंने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया बाढ़, चक्रवात, आग की घटनाओं और यहां तक कि चूहों से फैलने वाले प्लेग रोग से अनजान नहीं है। दोनों देशों ने पिछले कुछ वर्षों में काफी चुनौतियां देखी हैं।’

रात भर चला बचाव अभियान

सैन्य अधिकारी कैप्टन जेक फैबर ने बताया कि पूरी रात लोग खुद को बचाए जाने और सुरक्षित जगहों पर पहुंचने का इंतजार करते रहे। पूरी रात लोगों को बचाने का अभियान जारी रहा। बाढ़ की वजह से कई लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है, जो बेहद दुखदायी है। उन्होंने बताया कि एक सिविलियन हेलीकॉप्टर पायलट ने बाढ़ में हाथ-पांव मार रहे एक व्यक्ति का हाथ खींचकर उसकी जान गंवाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *