Breaking News

‘ठेले पर सिस्टम’: शख्स की कोरोना से मौत, शव ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिला तो ठेले से ले गए परिजन

कोरोना संक्रमण की वजह से लोगों की मौत का सिलसिला जारी है. रोजाना लोगों की मौत हो रही है. स्थिति ऐसी है कि लाश को लेकर जाने के लिए शव वाहन तक उपलब्ध नहीं हो पा रहा है. परिजन जैसे-तैसे लाश को दाह-संस्कार के लिए घाट तक पहुंचा रहे हैं. ताजा मामला बिहार के गया जिले के टिकारी अनुमंडलीय अस्पताल का है, जहां गुरुवार को एक शख्स की कोरोना से मौत हो गई. मौत के बाद अस्पताल प्रबंधन की ओर से शव वाहन मुहैया नहीं कराया गया, जिसके बाद परिजन शव ठेले पर लाद कर दाह संस्कार के लिए घाट पहुंचे.


मिली जानकारी अनुसार शख्स को गुरुवार की सुबह इलाज के लिए टिकारी अनुमंडल अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. जांच में उसे कोरोना संक्रमित पाया गया. ऐसे में शव को पीपीई किट में पैक कर परिजनों को सौंप दिया गया. कोरोना से मौत के बाद परिजनों में भी भय का माहौल था. मृतक के भतीजा अंकज कुमार ने अस्पताल प्रबंधन से शव को लेकर जाने के लिए शव वाहन की मांग की, लेकिन वाहन उपलब्ध नहीं कराया गया. वहीं, निजी वाहन चालक भी कोरोना के डर से शव को लेकर जाने के लिए तैयार नहीं हुए. ऐसे में करीब चार घंटे इंतजार के बाद अंकज ने शव को ले जाने के लिए अपने किसी जान पहचान वाले ठेला चालक से संपर्क किया और शव को ठेले पर लादकर किसी तरह अंतिम संस्कार के लिए बाजितपुर गांव के घाट पर पहुंचाया. इस संबंध में जब अस्पताल के मैनेजर अजित कुमार से पूछा गया, तो उन्होंने बताया कि शव को ले जाने के लिए शव वाहन की व्यवस्था होती है, लेकिन वाहन कहीं और गया था. इस वजह से देरी हो रही थी. परिजनों ने खुद ही इंतजार नहीं किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *