Breaking News

इयरबड ने तोड़े भारत की ग्रैंडमास्टर के सपने, इस एक गलती ने कर दिया वर्ल्ड चैंपियनशिप से बाहर

भारत की ग्रैंडमास्टर (Grandmaster of India) और 7वीं वरीय प्रियंका नुटक्की को इयरबड रखना काफी महंगा पड़ गया. एक इयरबड के कारण उन्हें वर्ल्ड चैंपियनशिप (world championship) से बाहर होना पड़ा. प्रियंका की जैकेट की जेब में इयरबड मिले, जिस वजह से उन्हें इटली (Italy) में चल रहे वर्ल्ड जूनियर शतरंज चैंपियनशिप(World Junior Chess Championship) से बाहर कर दिया गया है. शतरंज की वैश्विक संचालन संस्था फिडे ने प्रियंका के बाहर होने की जानकारी दी. दरअसल नियमित तलाशी के दौरान 20 साल की प्रियंका (ईएलओ रेटिंग 2326) की जैकेट की जेब से इयरबड का जोड़ा मिला.जेब में इयरबड (earbuds) मिलने के बाद उनका इस चैंपियनशिप में खेलने का सपना टूट गया. दरअसल इयरबड शतरंज टूर्नामेंट (chess tournament) में प्रतिबंधित चीजों में से एक है.

गलती से जेब में रहे इयरबड
फिडे ने बयान जारी करके ये भी साफ कर दिया है कि भारतीय ग्रैंडमास्टर की तरफ से धोखाधड़ी के इरादे का कोई सबूत नहीं मिला है. फिडे के बयान के बाद ऐसा कहा जा रहा है कि इयरबड गलती से प्रियंका की जेब में रह गए होंगे.

फेयरप्ले की नीतियों का उल्लंघन
दरअसल खेल के हॉल में इयरबड लाने की सख्त मनाही है. बाजी के दौरान इयरबड जैसे उपकरणों को साथ में रखना फेयरप्ले की नीतियों का उल्लंघन है. अगर कोई भी खिलाड़ी ऐसा करता है तो सजा के तौर पर उसे या तो बाजी गंवानी पड़ती है या फिर टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ता है.

प्रियंका ने जुटाए थे 4 अंक
प्रियंका के चैंपियनशिप से बाहर होने का फायदा उनकी प्रतिद्वंद्वी तो हुआ. दरअसल छठे दौर में भारतीय ग्रैंडमास्टर ने जो अंक हासिल किए थे, वो उनकी प्रतिद्वंद्वी गोवहार बेदुलायेवा को दे दिए गए. टूर्नामेंट की अपील समिति ने भारतीय टीम की अपील पर भारतीय ग्रैंडमास्टर को बाहर किए जाने के फैसले की फिर से पुष्टि की. प्रियंका के प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने शुरुआती 5 दौरे में 3 जीत और 2 ड्रॉ से 4 अंक जुटाए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *