Breaking News

अचानक चट्टान से फिसलकर नीचे गिरा कैमरामैन, बचाने के चक्कर में मंत्री की मौत

मॉस्को: रूस के आपातकालीन मंत्री येवगेनी जिनिचेव की आर्कटिक में रणनीतिक अभ्यास के दौरान एक व्यक्ति को बचाने में चक्कर में जान चली गई. जिनिचेव राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के पूर्व बॉडीगार्ड थे. राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने हादसे की पुष्टि करते हुए बताया कि येवगेनी जिनिचेव एक कैमरामैन को बचाने की कोशिश कर रहे थे, जिसमें उनकी जान चली गई. उनके मृत शरीर को मॉस्को लाने की तैयारी की जा रही है.

कई विभागों के साथ कर रहे थे Drill

‘RT न्यूज’ की रिपोर्ट के अनुसार, आपातकालीन मंत्रालय ने घटना की जानकारी देते हुए बताया कि 55 वर्षीय येवगेनी जिनिचेव का ड्यूटी के दौरान निधन हो गया. यह हादसा बुधवार को उस समय हुआ जब वे आर्कटिक क्षेत्र को आपात स्थिति से बचाने के लिए कई विभागों के साथ अभ्यास कर रहे थे. इस दौरान एक व्यक्ति की जान बचाने की कोशिश में उन्हें गंभीर चोट लगी और अस्पताल लेकर जाते समय उन्होंने दम तोड़ दिया.

ऐसे हुआ दर्दनाक हादसा

रिपोर्ट में बताया गया है कि आपातकालीन मंत्री येवगेनी जिनिचेव एक चट्टान के किनारे खड़े थे, तभी एक कैमरामैन फिसलकर गिर गया. उसे बचाने के लिए जिनिचेव ने चट्टान से नीचे पानी में छलांग लगा दी. इस दौरान वे एक दूसरी चट्टान से टकरा गए और उनके सिर में गंभीर चोट लग गई. उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई.

KGB और FSB में कई पदों पर रहे

जिनिचेव का जन्म 1966 में लेनिनग्राद (अब सेंट पीटर्सबर्ग) में हुआ था. 1987 में वह रूसी खुफिया एजेंसी KGB के अधिकारी बने और 1991 से रूसी संघीय सुरक्षा सेवा (FSB) में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे. विभिन्न पदों पर रहते हुए जिनिचेव ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ कई विदेश यात्राएं भी की थीं. रूसी सुरक्षा सेवा के उप निदेशक के रूप में सेवा करने के बाद 2018 में जिनिचेव आपातकालीन स्थितियों के मंत्री बने थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *