Breaking News

MCD चुनाव में श्रद्धा मर्डर की एंट्री, BJP कैंडिडेट ने ‘लव जिहाद’ से ‘बहनों को बचाने’ की खाई कसम

आफताब पूनावाला द्वारा लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की जघन्य हत्या ने अब दिल्ली के नगर निगम चुनावों के लिए जारी चुनाव प्रचार में भी दस्तक दे दी है. दरअसल, छावला वार्ड के एक भाजपा उम्मीदवार ने ‘लव जिहाद’ से महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने का संकल्प लिया है. उम्मीदवार ने वादा किया है कि अगर वह चुनाव जीत जाते हैं, तो वह ‘किसी भी श्रद्धा को किसी भी आफताब का शिकार नहीं होने देंगे’.

छावला वार्ड से बीजेपी उम्मीदवार शशि यादव ने कहा, ‘बहन श्रद्धा की हत्या हुई. आफताब ने 35 टुकड़े करके उसे फ्रिज में रखा. ये कोई पहली घटना नहीं है. ऐसी घटनाएं पहले भी हुई हैं. कभी सूटकेस में, तो कभी फ्रिज में. चुनाव आते जाते रहेंगे. मैं शपथ लेता हूं कि सिर्फ छतीकला गांव ही नहीं, बल्कि आसपास के क्षेत्रों में से किसी भी बहन श्रद्धा को किसी आफताब का शिकार नहीं होने दूंगा.’

श्रद्धा वालकर हत्याकांड में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं. यह मामला लगभग हर घर में चर्चा का विषय बन गया है और दिल्ली के शहरी इलाकों में तो और भी ज्यादा, जहां परिवार बैचलर्स और युवाओं को किराए पर कमरा देकर पैसा कमाते हैं. यादव ने कहा कि उन्हें इस संकल्प पर लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है. उन्होंने आगे कहा, “जब हमने ये कहा, तो लोगों ने हमें समर्थन दिया है, ‘लव जिहाद’ के मामले जब आएंगे, तो हम उन पर नजर रखेंगे. हम ऐसी घटनाओं के बारे में जागरूकता पैदा करेंगे. ग्रामीण इलाकों में इस तरह की घटनाएं कम होती हैं. हम यह सुनिश्चित करेंगे कि हमारी बहनों को फंसाने के इरादे से कोई उन पर नजर न डाले.”

यह पूछे जाने पर कि वह अपनी ‘बहनों’ की सुरक्षा कैसे सुनिश्चित करेंगे, यादव ने कहा कि श्रद्धा के साथ जो हुआ उससे क्षेत्र के लोग नाराज थे और इसलिए यह प्रतिज्ञा जरूरी थी. भाजपा उम्मीदवार ने कहा, ‘चुनाव आते हैं और चले जाते हैं, लेकिन एक बेटे और एक भाई के रूप में, हमें अपनी बहनों की जिम्मेदारी लेने की जरूरत है. हम उन लोगों पर नजर रखेंगे, जो लड़कियों को प्यार के लिए फंसाते हैं.’

आफताब पूनावाला को सह जीवन साथी (लिव इन पार्टनर) श्रद्धा वालकर की कथित रूप से गला घोंटकर हत्या करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने 12 नवंबर को गिरफ्तार किया. दक्षिण दिल्ली के महरौली में उसने 6 माह पहले 18 मई को वालकर की गला दबाकर हत्या की. फिर अगले दिन शव के 35 टुकड़े किये और करीब 21 दिन तक फ्रीज में रखने के बाद टुकड़ों को वह कई दिनों तक अलग-अलग जगहों पर फेंकता रहा. जांच टीम के डेटिंग ऐप ‘बम्बल’ से भी संपर्क करने की संभावना है, जिसके जरिए दोनों की मुलाकात हुई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *