Breaking News

1.36 करोड़ ठगी मामले में अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी और उनकी मां सुनंदा को मिली बड़ी राहत

राजधानी लखनऊ में आयोसिस वेलनेस सेंटर कंपनी की फ्रेंचाइजी में ठगी के मामले में बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी और उनकी मां सुनंदा को बड़ी राहत मिली है। लखनऊ पुलिस ने जांच के बाद आयोसिस वेलनेस सेंटर फ्रेंचाइजी ठगी मामले सेे शिल्पा शेट्टी और उनकी मां का नाम हटा दिया है। नाम हटाने से शिल्पा और उनकी मां सुनन्दा को बड़ी मिली है। ज्ञात हो कि गोमती नगर निवासी ज्योत्सना सिंह ने विभूति खंड थाने में अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी , उनकी मां सुनंदा, शिल्पा की मैनेजर किरण बावा समेत कई लोगों पर 1.36 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कराई थी। एफआईआर के मुताबिक आयोसिस वेलनेस सेंटर कंपनी की फ्रेंचाइजी देने के नाम पर ज्योत्सना से यह ठगी की गई थीं ज्योत्सना ने आरोप लगाया था कि शिल्पा की मैनेजर किरण बावा ने अपने साथ शिल्पा के कई वीडियो दिखाकर झांसे में लेकर उन्हें कंपनी की फ्रेंचाइजी दिलवा दी थी। जिससे उनका काफी नुकसान हुआ। ज्योत्सना के मुताबिक उन्होनें विभूति खंड में किराए की दुकान लेकर, साज सज्जा पर काफी खर्च कर सेंटर की शुरुआत भी कर दी थी।

ऐसा था आरोप

आरोप है कि कंपनी ने वादा किया था कि वेलनेस सेंटर का उद्घाटन खुद शिल्पा शेट्टी करेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। जबकि शिल्पा को बुलाने के लिए उनसे 11 लाख रुपए मांगे गए थे। उन्होंने बताया कि वह नहीं आयीं। एफआईआर के मुताबिक कुछ समय बाद किरण बावा ने सेंटर पर कब्जा कर लिया था जबकि उनका 1.36 करोड़ रुपया सेंटर पर खर्च हो चुका था जो उन्होंने अपना मकान गिरवी रख कर लिया था। ऐसी स्थिति में उनका काफी नुकसान हुआ।

नोटिस के जवाब से संतुष्ट लखनऊ पुलिस

एफआईआर दर्ज होने के बाद 11 अगस्त को विभूति खंड पुलिस ने मुंबई जाकर शिल्पा शेट्टी और किरण बाबा को नोटिस दिया था। शिल्पा शेट्टी ने अपने वकीलों के जरिए पुलिस की इस नोटिस का जवाब दिया था। शिल्पा शेट्टी ने जवाब दिया था कि ये मुकदमा दर्ज होने से पहले ही उन्होनें कंपनी से नाता समाप्त कर लिया था। उन्होंने कहा कि जिसका सबूत भी शिल्पा शेट्टी की ओर से दिया गया था। डीसीपी ईस्ट संजीव सुमन ने बताया कि नोटिस के जवाब से संतुष्ट होने के बाद शिल्पा शेट्टी और उनकी मां सुनंदा का नाम इस मामले से हटा दिया गया है। किरण बावा समेत आठ आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *