Breaking News

हिरासत में हिस्ट्रीशीटर पर एटीएस ने ऐसे कसा शिकंजा, आतंकियों ने कानपुर से खरीदी थी पिस्टल

लखनऊ के काकोरी से पकड़े गये आतंकी संगठन अलकायदा के आतंकियों ने कानपुर के चमनगंज इलाके से पिस्टल खरीदी थी। आतंकियों ने एटीएस की पूछताछ में इसका खुलासा किया है। आशंका है कि चमनगंज के हिस्ट्रीशीटर ने पिस्टल मुहैया कराई थी। माना जा रहा है कि पिस्टल बेचने वाले और बिचैलिए दोनों को एटीएस ने हिरासत में ले लिया है। दोनो बिचैलिये से पूछताछ की जा रही है। जल्द दोनों की गिरफ्तारी संभव है। आशंका यह भी है कि बरामद अन्य असलहा व बारूद भी कानपुर से ही आपूर्ति किया गया है। हथियार मामले में पुलिस, एटीएस लगातार कार्रवाई कर रही है। एटीएस ने रविवार को लखनऊ के से अलकायदा के दो आतंकी मिनहाज अहमद और मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर को गिरफ्तार किया था। दोनों आतंकियों के ठिकाने से कुकर बम, विस्फोटक, आईईडी और एक पिस्टल बरामद हुई थी।

आतंकियों ने पूछताछ में बताया कि बरामद पिस्टल उन्होंने चमनगंज से एक शख्स से खरीदी थी। हथियार के लिए एक मुश्त रकम असलहा बेचने वाले को दिए थे। खरीदारी खुद आतंकियों ने कानपुर जाकर की थी। सौदा कराने वाले का भी नाम आतंकियों ने बताया है। एटीएस ने एक और हिस्ट्रीशीटर को हिरासत में लिया है। पिस्टल इसी हिस्ट्रीशीटर ने आतंकियों को दी थी। अब जांच में पता चलेगा कि हिस्ट्रीशीटर ने खुद पिस्टल बेची थी या किसी दूसरे से दिलाई थी।

एटीएस आतंकियों का कराएगी आमना-सामना
आतंकियों को लखनऊ में एटीएस ने कोर्ट में पेश किया। दोनों आतंकियों को एटीएस ने 14 दिन की कस्टडी रिमांड पर लिया है। पूछताछ के दौरान आतंकियों को कानपुर भी लेकर एटीएस आ सकती है। जहां से असलहा और पिस्टल खरीदी है बेचने वाले से इनका आमना-सामना कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *