Breaking News

सुरक्षा एजेंसियों ने कश्मीर में बड़ी साजिश रचने का जताया अंदेशा, आतंकी धार्मिक स्थलों को बना सकते हैं निशाना

कश्मीर में ईद से पहले आतंकी कुछ बड़ा करने की फिराक में है .सुरक्षा एंजसियों ने अंदेशा जताया है कि आतंकी ईद से पहले किसी बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देकर कश्मीर में अशांति फैलाना चाहते है जिसमें उनका टार्गेट धार्मिक स्थल जैसे मंदिर और गुरुद्वारा हो सकते है. सुरक्षा एजेंसिया के मुताबिक आतंकी ऐसा करके कश्मीर में वो ही माहौल बनना चाहते है जो की बुहरान के एंकाउंटर के बाद बना था.

दरसल ये इसलिए किया जा रहा है, क्यूंकि आतंकी चाहते है की घाटी में कम्यूनल रिफ़्ट बड़े और दंगे जैसे माहौल बनाया जा सके. इसी के लिए लगातार चलते minorities को टार्गेट किया जा रहा है. हालांकि इसको लेकर सेंटर ने कई बड़े officers की टीम को कश्मीर में भेजा है जिसका मक़सद है कश्मीर मे OGW और आतंकी के बीच बने नए nexus को तोड़ना है. सुरक्षा agencies की क़रीब 5 senior officer की टीम कश्मीर में है जिसने दो ओफ़िसर IB के , 2 RAW और 1 NIA का भी है.

पांच ऑफ़िसर की टीम लगातार कई टीमों को कर रही लीड

ये पांच ऑफ़िसर की टीम लगातार कई टीमों को लीड कर रही है जो ना सिर्फ़ छापेमारी कर रही है बल्कि उन सभी लोगों से पूछताछ भी कर रही जिन्हें हाल ही में पूछताछ के लिए उठाया गया है. इसके अलवा एक स्पेशल technical टीम भी कश्मीर में police , सेना और खुफिया एजेंसियों के साथ मिलकर काम कर रही है जो technical equipment के साथ आतंकियो के लोकेशन से लेकर उनके मूवमेंट से हर जुड़ी जानकारियों निकल रही है. इसके अलवा बड़ी तादाद में फ़ोन इंटर्सेप्ट्स भी लिए गए है जो लगाए आतंकियों की मदद करने का काम कर रहे है. दरसल ये सारी छापेमारी इस्लेय क्यूँकि agencies OGW और आतंकियों के बीच बने नए network को पूरी तरह से तोड़ना चाहते है.

कश्मीर के गुनहगारों को बिल से बाहर निकालने के लिए पुलिस ने केंद्रीय खुफिया एजेंसियों के सहयोग से बड़ा धरपकड़ आपरेशन चलाया है. गत शनिवार देर रात से चल रही छापेमारी में हिरासत में लिए गए लगभग 670 संदिग्धों से पूछताछ में कई अहम सुराग मिले हैं. इनमें से अधिकांश पुराने पत्थरबाज, पूर्व आतंकी, आतंकियों के गाइड, प्रतिबंधित जमात-ए-इस्लामी और अलगाववादी संगठन तहरीके हुर्रियत कश्मीर के कार्यकर्ता हैं. इन्हीं से पूछताछ के आधार पर टीआरएफ के चार आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस और सुरक्षा एजेंसियां कश्मीर हिंदुओं और अन्य नागरिकों की हत्या की साजिश से पर्दा उठाने के करीब जा पहुंची हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *