Breaking News

भारत में कोरोना वायरस की रफ्तार फिर हुई बेकाबू , पिछले 24 घंटे में 50 हजार से अधिक केस आये सामने

भारत में कोरोना वायरस की रफ्तार एक बार फिर बेकाबू हो गई है. बीते 24 घंटे में देश में 50 हजार से अधिक कोरोना वायरस के नए केस दर्ज हुए हैं. करीब पांच महीने के बाद भारत में 50 हजार कोरोना केस का आंकड़ा पार हुआ है, जो डराने वाला है. एजेंसी के मुताबिक, बुधवार को भारत में कुल 53,364 कोरोना के नए केस दर्ज किए गए हैं. जबकि 250 से अधिक लोगों की मौत हुई है. बता दें कि इससे पहले 23 अक्टूबर, 2020 को भारत में 50 हजार से अधिक केस दर्ज किए गए थे, तब 54350 मामले सामने आए थे.

कोरोना वायरस की इस बढ़ती रफ्तार के साथ ही भारत में एक बार फिर एक्टिव केस 4 लाख के करीब पहुंच गए हैं. जबकि देश में कोरोना महामारी से मरने वालों की संख्या 1 लाख 60 हजार के आंकड़े को पार कर गई है. देश में सबसे अधिक भयावह स्थिति महाराष्ट्र से सामने आई है, जहां बीते दिन 31 हजार से अधिक कोरोना के केस दर्ज हुए. महाराष्ट्र में हर दिन कोरोना वायरस के नए मामले अपने ही पुराने रिकॉर्ड को तोड़ रहे हैं. यही कारण है कि अब राज्य के कई शहरों में सम्पूर्ण लॉकडाउन लग चुका है. महाराष्ट्र में अब एक्टिव केस की संख्या भी ढाई लाख हो गई है, जो पूरे देश के आंकड़ों के आधे से अधिक केस हैं.

महाराष्ट्र की तरह ही दिल्ली में भी खौफ

देश की राजधानी दिल्ली भी फिर से कोरोना की चपेट में आती हुई दिख रही है. यहां भले ही महाराष्ट्र जैसे डराने वाले आंकड़े नहीं हैं, लेकिन बीते कुछ वक्त से जो ट्रेंड चल रहा था वो टूट चुका है. बीते दिन ही दिल्ली में 1200 से अधिक केस दर्ज किए गए, जो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है. ऐसे में दिल्ली में सख्ती बढ़ा दी गई है, बाजारों-मॉल-मल्टीप्लेक्स में कोरोना गाइडलाइन्स का पालन अनिवार्य हो गया है.

महाराष्ट्र और दिल्ली के अलावा कई ऐसे राज्य भी हैं, जहां बीते दिन जो केस सामने आए वो इस साल का सबसे बड़ा आंकड़ा है. कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, बंगाल इन्हीं राज्यों की लिस्ट में शामिल हैं. वहीं, यूपी में भी जनवरी के बाद पहली बार 700 से अधिक केस दर्ज किए गए. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा भी बीते दिन जो प्रेस कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी गई थी, उसके मुताबिक देश में ताजा एक्टिव केस कुछ राज्यों से आ रहे हैं. देश में इस वक्त जहां सबसे अधिक एक्टिव केस हैं, उन टॉप दस जिलों में से नौ जिले महाराष्ट्र से ताल्लुक रखते हैं. यही कारण है कि केंद्रीय टीम भी महाराष्ट्र के हालात पर नजर बनाए हुए है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *