Breaking News

भारत के बाद अब अमेरिका ने भी लगाया चीनी ऐप टिकटॉक पर बैन, जाने क्‍या है असल वजह

भारत के बाद अब अमेरिका (America) भी चीनी शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक (chinese short video app tiktok) पर सख्ती बरतता जा रहा है. टिकटॉक को लेकर हाई रिस्क सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए इसे पूरे अमेरिका में सभी संघीय सरकारी डिवाइस पर प्रतिबंधित (banned) कर दिया गया है. हालांकि, इसमें एकमात्र अपवाद कानून प्रवर्तन और राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसियां रहेंगी, जो सिक्योरिटी रिसर्च के उद्देश्यों के लिए विशेष मामलों में इस ऐप का इस्तेमाल कर सकती हैं. बता दें कि डेटा प्राइवेसी और सेफ्टी की वजह से टिकटॉक पर अमेरिका में लंबे समय से लगातार सवाल उठ रहे थे. अब जाकर अमेरिकी सरकार ने इस पर प्रतिबंध लगाया है.

जो बाइडेन ने हाल ही में साइन किया इससे जुड़ा बिल
अमेरिकी सरकार के इस प्रतिबंध का व्यापक असर होगा. इस बैन के बाद करीब चार मिलियन सरकारी कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से अपने मोबाइल और उन्हें जारी किए गए अन्य गैजेट्स से टिकटॉक को हटाना होगा. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की ओर से हाल ही में साइन किए गए 1.7 ट्रिलियन डॉलर स्पेंडिंग बिल में एक प्रावधान है जो बाइटडांस के स्वामित्व वाले ऐप को प्रतिबंधित करता है.

पिछले कुछ दिनों में बढ़ी है इस ऐप पर सख्ती
वहीं, टिकटॉक के प्रवक्ता ब्रुक ओबेरवेटर ने कहा, ”हम निराश हैं कि कांग्रेस ने सरकारी उपकरणों के लिए टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाने का कदम उठाया है. यह फैसला राष्ट्रीय सुरक्षा हितों को आगे बढ़ाने के लिए कुछ भी नहीं करेगा.”

बता दें कि टिकटॉक पर अमेरिका में सख्ती पिछले कुछ दिनों में ही बढ़ी है. पिछले महीने ही साउथ डकोटा के गवर्नर क्रिस्टी नोएम ने एक कार्यकारी आदेश जारी करते हुए इस ऐप के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने की बात कही थी. नोएम ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक बयान में कहा, ”दक्षिण डकोटा का हमसे नफरत करने वाले राष्ट्रों के खुफिया जानकारी एकत्र करने के संचालन में कोई हिस्सा नहीं होगा.”

एफबीआई ने भी कुछ दिन पहले किया था आगाह
बता दें कि इससे पहले फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) ने भी ऐप के जरिये डेटा लीक होने को लेकर आगाह किया था. निदेशक क्रिस्टोफर रे ने एक हाउस पैनल को बताया कि ऐप के माध्यम से उपयोगकर्ताओं के डेटा या सॉफ्टवेयर तक संभावित चीनी सरकार की पहुंच “बेहद चिंतित” करने वाली चीज है. रे ने कहा कि ‘बाइटडांस ऐप में विशिष्ट एप्लिकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस (एपीआई) को एम्बेड करता है जो बीजिंग को लाखों उपयोगकर्ताओं के डेटा संग्रह को नियंत्रित करने या अनुशंसा एल्गोरिदम को नियंत्रित करने की सुविधा देता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *