Breaking News

‘भाजपा लोगों को डराते हैं नफरत पैदा करते हैं’, हल्ला बोल रैली में बोले राहुल गांधी

देश में बढ़ती महंगाई के खिलाफ कांग्रेस पार्टी आज हल्ला बोल रैली कर रही है। जी हाँ और राहुल गांधी समेत कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता रामलीला मैदान में मौजूद हैं। वहीं इस रैली में राहुल ने कहा- ‘नफरत डर का एक रूप है। जिसको डर होता है, उसी के दिल में नफरत पैदा होती है। जो डरता नहीं है, उसके दिल में नफरत पैदा नहीं होती है। हिंदुस्तान में नफरत बढ़ रही है, उसी बात को दूसरे तरीके से कहना है कि हिंदुस्तान में डर बढ़ता जा रहा है। भविष्य का डर, महंगाई का डर, बेरोजगारी का डर।। ये बढ़ता जा रहा है। इसके कारण हिंदुस्तान में नफरत बढ़ती जा रही है।’

इसी के साथ राहुल ने कहा कि, ‘नफरत से लोग बंटते हैं, देश बंटता है और कमजोर होता है। भाजपा और संघ के नेता देश को बांटते हैं और जानबूझकर देश में भय पैदा करते हैं। लोगों को डराते हैं और नफरत पैदा करते हैं। सवाल उठता है कि किसके लिए करते हैं और क्यों करते हैं। इस नफरत का फायदा किसको मिल रहा है। क्या इसका फायदा हिंदुस्तान के गरीब लोगों को मिल रहा है? मजदूर और छोटे दुकानदार को मोदीजी की सरकार ने क्या फायदा दिया? पूरा का पूरा फायदा, डर-नफरत का फायदा हिंदुस्तान के दो उद्योगपति उठा रहे हैं।’

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा- ‘मोदीजी ने नोटबंदी की। इससे गरीबों का फायदा हुआ? उन्होंने गरीबों की जेब से पैसा निकाला। गरीबों से कहा कि कालेधन के खिलाफ लड़ाई है। कुछ महीनों बाद आपने देखा कि आपकी जेब से निकाला गया लाखों करोड़ रुपए।। देश के सबसे बड़े उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया गया। किसान का कर्जा माफ नहीं करेंगे। किसानों के खिलाफ काले कानून लाएंगे। कहेंगे कि ये कानून उनके फायदे के लिए हैं। अगर किसान के फायदे के लिए हैं तो हिंदुस्तान में किसान क्यों इसके खिलाफ है। किसानों ने नरेंद्र मोदीजी को अपनी शक्ति दिखा दी। मोदीजी को जब किसानों की शक्ति दिखी तो उन्होंने कानून रद्द कर दिया।’

इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा- ‘यही बात जीएसटी के साथ हुई। कांग्रेस दूसरी जीएसटी लाना चाहती थी। भाजपा ने जीएसटी को बदला। पांच अलग-अलग टैक्स और जबरदस्त चोट छोटे दुकानदारों को दी।’ आपको बता दें कि इससे पहले राहुल ने ट्वीट कर पीएम मोदी पर हमला बोला था। उन्होंने लिखा था- ‘राजा मित्रों की कमाई में व्यस्त, प्रजा महंगाई से त्रस्त।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *