Breaking News

भविष्य में हो अगर लॉकडाउन, तो ध्यान रखें इन 5 बातों का, कभी नहीं होगी आर्थिक तंगी

कोरोना वायरस की वजह से हर किसी के जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ा है. लॉकडाउन से न सिर्फ लोगों को मानसिक पीड़ा हुई है बल्कि आर्थिक रूप से भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा है. ऐसी स्थिति में कभी भी कोई भी इमरजेंसी आपको और परिवार को तकलीफ दे सकती है. मुसीबत की स्थिति में क्या करें और क्या न करें इसके लिए 5 बातों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है. जिनके बारे में हम आपको बताएंगे इन 5 बातों का अगर आप हमेशा रखेंगे तो इससे कभी आपको दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा.

इमरजेंसी फंड
लॉकडाउन की वजह से काम की रफ्तार थम चुकी है लोगों को मजबूरी मे घरों में रहना पड़ रहा है और संक्रमण के खतरे की वजह वह घर से बाहर भी नहीं जाना चाहता.emergency_fundऐसे में पैसे कहां से आएं तो इसके लिए आपको हर 6 महीने में इमरजेंसी फंड बनाने की जरूरत है. यह मुश्किल वक्त में हमेशा आपके और परिवार के काम आएगा.

कर्ज से बचें
चाहे कुछ भी स्थिति हो लोगों से कभी किसी तरह का कर्ज न लें. क्योंकि, एक ईमानदार व्यक्ति को कर्ज उतारने का बोझ सोते-जागते हमेशा परेशान करता रहता है. इसलिए अगर आपने भी कर्ज लिया है तो उसे फौरन उतार दें.loanइसके अलावा क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करने की बजाय कैश और डेबिट कार्ड से करें. ऐसा करने से आपके पास बैंक का भी कर्ज नहीं होगा और मुश्किल समय में आप सुकून से रह पाएंगे.

स्किल को बढ़ाएं
लॉकडाउन हैं तो घर में रहकर ही अपनी स्किल बढ़ाने की कोशिश करें. इंटरनेट पर बहुत से ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध हैं जिनसे आप खुद की स्किल बढ़ा सकते हैं.Internet-Online-Learning-Earning-skillsइसका फायदा हमेशा आपको मिलेगा और जब लॉकडाउन खत्म होगा तो आपके पास बहुत सारे ऑप्शन होंगे.

फाल्तू के खर्चों से बचें
जितना हो सके फाल्तू के खर्चों से बचकर चलें. वरना आपके सारे पैसे व्यर्थ की चीजों में ही खर्च हो जाएंगे.saving tipsइसलिए अपने सारे जरूरी कामों का बजट बनाकर चलें और नौकरी के अलावा और भी इनकम के सोर्स की तलाश करें.

कहीं भी निवेश करने से बचें
पैसों के मामले में हमेशा संभलकर चलना चाहिए वरना कई बार पैसों की बर्बादी हो जाती है. इसके अलावा जब भी बाजार में उछाल देखें तो फौरन निवेश न करें इससे न सिर्फ आपके पैसों की बर्बादी होगी बल्कि इससे आपको झटका भी लग सकता है. इसलिए लुभावने ऑफरों को देखकर उत्साहित न हों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *