Breaking News

बैठक में चीनी विदेश मंत्री से हुई जयशंकर की बहस, सख्त तेवर के साथ ड्रैगन को दी ये चेतावनी

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारत और चीन का तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है। चीनी सैनिक लगातार भारतीय सीमा पर घुसपेठ करने की कोशिश कर रहे है लेकिन हर बार भारतीय सेना चीन के इस कदम का मुंहतोड़ जवाब दे रही है लेकिन इस तनाव के बीच रूस में भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर और चीन के विदेश मंत्री वांग यी की मुलाकात हुई। दरअसर रूस में शंघाई सम्मेलन से इतर दोनों देशों के विदेशों मंत्रियों ने मुलाकात की। इस मुलाकात में सीमा पर चल रहा गतिरोध बातचीत का केंद्र बिंदु रहा। जिमसें चीन की तरफ से अडियल रवैया एक बार फिर देखने को मिला। लेकिन भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने चीन को सख्त लहजे में जवाब दिया।

इस बैठक में चीन लगातार इस बात पर जोर दे रहा था कि सीमा पर जारी तनाव के बीच भी दोनों देशों के द्वीपक्षीय संबंध चलते रहे। चीन चाहता है कि वह सीमा पर कैसा भी रवैया दिखाए। लेकिन भारत उसके व्यापार चलाता रहे। चीन की इस मांग पर विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि अगर सीमा पर स्थितियां सही नहीं हुई, तो कोई संबंध नहीं रखा जा सकता है। उन्होंने इस बैठक में सख्त लहजे में कहा कि सेना तब तक पीछे नहीं हटेगी, जब तक चीन की सेना भारतीय इलाकों से हट नहीं जाती। सीमा पर शांति तभी बहाल होगी। जब चीन अपने हर बिंदु पर वापस लौट जाएगा। इस मुलाकात में भारत ने चीन के सामने ये स्पष्ट कर दिया कि अगर सीमा पर स्थितियां सामान्य नहीं हुई, तो आने वाले दिनों में चीन को हर तरह के नुकसान का सामना करना होगा। ऐसा बिल्कुल भी नहीं होगा कि सीमा पर तनाव जारी रहे और व्यापार चलता रहेगा।

वहीं, इस मामले पर अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट में चीन और भारत की इस मुलाकात के बारे में बताया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, जयशंकर ने वांग से साफ कह दिया की सीमा पर यह स्थिति तब पैदा हुई जब चीनी अवैध निर्माण किए और कई समझौतों का पालन नहीं किया गया। चीन अपने वादा पर खरा उतरा या नहीं, पहले भारत इसका निरीक्षण करेंगा। क्योंकि चीन भारत को पहले कई बार धोखा दे चुका है। अब तक कमांडर स्तर पर जो भी फैसले हुए है चीन ने नहीं माने है।

 

बता दें कि बीते काफी दिनों से चीन और भारतीय सेना की झड़प हो रही है। जिसका जवाब भारत सीमा के साथ-साथ डीजिटल प्लेटफॉर्म पर भी दे रहा है। भारत में अब तक कई चाईनीस एप पर बैन लगा दिया है। जिसमें टिकटॉक और पब्जी दो सबसे बड़ी एप शामिल है। भारत के इस कदम से चीन को बड़ा झटका लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *