Breaking News

बेअदबी के आरोपियों की हत्या पर बोले कैप्टन- सभ्य समाज में ये स्वीकार नहीं, कहा- सुरक्षा और विकास हमारी प्राथमिकता

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Amarinder Singh) ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा और पंजाब का कल्याण उनके एजेंडे में सबसे ऊपर है और ऐसी उम्मीद है कि अगली पीएलसी-बीजेपी सरकार इसपर सफलतापूर्वक काम करेगी. राजपुरा में कांग्रेस नेता जगदीश कुमार जग्गा को पार्टी में शामिल करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा, चुनाव में सफलता हासिल हो, इसके लिए दोनों पार्टी निकट समन्वय के साथ काम कर रही हैं. सिंह ने दरबार साहिब और कपूरथला (Kapurthala Murder) में बेअदबी के आरोपियों की हत्या की निंदा करते हुए कहा कि उन्हें पुलिस के हवाले कर देना चाहिए था.

अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘कोई भी सभ्य समाज इस तरह की हत्याओं को स्वीकार नहीं कर सकता और ना ही ऐसा करना चाहिए. बेअदबी करना गलत है लेकिन इंसान की हत्या करना भी गलत है (Sacrilege Accused Killing). यह कैसा रास्ता है? इस देश में एक कानून है. अगर आप उसे (आरोपी को) एसजीपीसी कार्यालय ले जाते हैं, उससे पूछताछ करते हैं और फिर उसे मार डालते हैं. यह कौन सा तरीका है? यह गलत है और यह बिल्कुल अस्वीकार्य है.’ मजीठिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के सवाल के जवाब में उन्होंने पूछा कि सरकार ने किस आधार पर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया. क्योंकि नशीले पदार्थों की तस्करी की रिपोर्ट अभी भी पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के पास सीलबंद लिफाफे में पड़ी है.

बहबाल कलां मामले में बोले

पूर्व पंजाब सीएम ने कहा, ‘आखिर देश में कोई कानून है. सिर्फ इसलिए कि आप किसी शख्स को पसंद नहीं करते, आप उसे सलाखों के पीछे नहीं रख सकते.’ बहबाल कलां हत्याकांड मामले में न्याय में हो रही देरी पर उन्होंने कहा कि उनकी सरकार पहले दिन से ही इसकी बात कर रही है. सिंह ने कहा कि पहले राज्य को केंद्रीय जांच ब्यूरो (Central Bureau of Investigation) से जांच वापस लेने के लिए लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी और फिर जांच शुरू की गई और पुलिस अधिकारियों और नागरिकों सहित 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया, जो अभी जमानत पर बाहर हैं.

राजपुरा से जुड़ी यादें बताईं

सिंह ने राजपुरा से जुड़ी अपनी पुरानी यादें साझा कीं. उन्होंने कहा कि उनके पिता दिवंगत महाराजा यदविंदर सिंह ने बहावलपुर से शरणार्थियों को इस शहर में बसाया था और उनकी मां मोहिंदर कौर शरणार्थियों की देखभाल करती थीं. इसके बाद स्थानीय विधायक के कहने पर उत्पीड़न, डराने-धमकाने और झूठे मुकदमे दर्ज करने की शिकायतों के जवाब में अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह सुनिश्चित करेंगे कि उन्हें (विधायक) बहुत जल्द जवाबदेह ठहराया जाए. उन्होंने कहा, ‘इस सरकार का समय समाप्त हो गया है और बस कुछ ही दिनों की बात है जब आचार संहिता (Code of Conduct) लागू हो जाएगी. चुनाव के बाद ना यह विधायक, ना यह सरकार कहीं नजर आएगी.’ उन्होंने पंजाब के लिए पूरे दिल से समर्थन करने को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को भी धन्यवाद कहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *