Breaking News

बवासीर, गठिया समेत इन बीमारियों का रामबाण इलाज है गिलोय

कई लोगों को बवासीर, गठिया आदि रोग होते हैं। इनके इलाज के लिए लोगों को हजारों रुपए खर्च करने पड़ते हैं। तब भी बहुत से लोगों को इससे पूरा लाभ नहीं मिलता है। अगर आप भी इन्हीं में से एक हैं तो आप गिलोय नामक जड़ी-बूटी का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये कई रोगों के लिए रामबाण इलाज है।

1. जिन लोगों को पाइल्स यानि बवासीर की बीमारी है। उन्हें गिलोय के एक चम्मच चूर्ण को छाछ में मिलाकर लेना चाहिए। इससे खून आना बंद होगा। साथ ही दर्द में भी आराम मिलेगा।

2. गिलोय का प्रयोग सांप या अन्य जहरीले जानवर के काटने पर शरीर में फैले विष को निकालने में भी किया जाता है। इसके लिए गिलोय की जड़ को पीसकर व्यक्ति को उसका रस पिलाना चाहिए। ऐसा करने से रोगी को उल्टी होगी। नतीजतन शरीर में मौजूद सारा जहर निकल जाएगा।

3. गिलोय का उपयोग जोड़ों एवं गठिया के दर्द में भी बहुत लाभकारी है। इसके लिए गिलोय के तने का चूर्ण रोजाना दूध में मिलाकर पीना चाहिए। इससे हड्डियां मजबूत होंगी।

4. गिलोय का उपयोग पीलिया रोग में भी बहुत लाभकारी है। इसके पत्तियों को सुखाकर बनाए गए पाउडर में एक चम्मच शहद मिलाकर खाने से लाभ मिलता है। आप चाहे तो इसका काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं।

5. गिलोय का प्रयोग रक्त शोधक के तौर पर भी होता है। इसलिए गिलोय को पानी में उबालकर काढ़ा बना लें। अब इसे छानकर शहद और मिश्री के साथ मिलाकर सुबह-शाम पिएं, इससे खून साफ हो जाएगा।

6. ये स्किन के लिए भी बहुत फायदेमंद है। अगर गिलोय को पीसकर चूर्ण बना लें और इसमें शहद और गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर लगाएं तो इससे मुंहासे, फोड़े-फुसियां और झाइयां ठीक हो जाती हैं। ये चेहरे में चमक भी लाता है।

7. गिलोय पुरानी खांसी को जड़ से खत्म करने में भी कारगर है। इसके इस्तेमाल के लिए दो चम्मच गिलोय का रस हर रोज सुबह पिएं। ऐसा करने से समस्या दूर हो जाएगी।

8. अगर किसी को आंखों में जलन, खुजली, पानी आना, धुंधला दिखना व अन्य कोई दृष्टि दोष है तब भी गिलोय का उपयोग फायदेमंद रहता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए गिलोय के पत्ते के रस में थोड़ा शहद मिलाकर आंखों में आई ड्रॉप की तरह डालें।

9. अगर किसी को वायरल बुखार हो गया हो तो इसके लिए आधे गिलास पानी में 3 इंच गिलोय का तना कुट कर अच्छी तरह मिला लें। अब इसे किसी मिट्टी के बर्तन में रखकर रातभर के लिए छोड़ दें। अब सुबह इसे छान पी लें। ऐसा करीब तीन दिन लगातार करें।

10. अगर किसी को कम सुनाई देता है या कान में दर्द होता है तो गिलोय की पत्तियों को पीसकर इसकी दो बूंदें कान में डालें, इससे लाभ होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *