Breaking News

नीतीश को ‘श्रीकृष्ण’ बनाने की ऐसी है शानदार कहानी, बीआर चोपड़ा को कई बार करना पड़ा था फोन

कला की दुनिया में कोई एक काम इतना यादगार हो जाता है कि दोबारा उसकी नकल करना भी उस कलाकार के लिए सम्भव नहीं होता है। जी हां, महाभारत धारावाहिक और उसके कलाकारों चयन। महाभारत के कलाकारों के साथ ऐसा ही हुआ। हमेशा के लिए उसके साथ अभिनय की पात्रता जोड़ दिया गया। महाभारत धारावाहिक में भगवान श्रीकृष्ण का किरदार निभाने वाले अभिनेता नीतीश भारद्वाज को इसी किरदार से याद किया जाता है। 2 जून को नीतीश का 58वां जन्मदिन है। नीतीश भारद्वाज ने कॅरिअर की शुरुआत नाना पाटेकर की फिल्म तृषाग्नि से की थी।

इसी फिल्म के साथ ही उन्हें महाभारत में काम करने का मौका मिला। उन्हें  महाभारत धारावाहिक में श्रीकृष्ण का रोल इतनी आसानी से नहीं मिला। जब बीआर चोपड़ा महाभारत बना रहे थे तो कास्ट को लेकर उस समय काफी कड़ा चयन था। नीतीश भारद्वाज को महाभारत में पहले विदुर का रोल मिला था। मगर इस रोल में स्क्रीन टेस्ट के लिए जब वे पहुंचे तो पहले से कोई और इसके ऑडीशन के लिए कास्ट्यूम पहनकर तैयार था। नीतीश भारद्वाज ने बताया कि मैंने जब इस बारे में रवि चोपड़ा से बात की तो उन्होंने कहा कि मैं 23-24 साल का हूं। विदुर कुछ वक्त के बाद बूढ़ा हो जाएगा और ये किरदार मुझपर शूट नहीं करेगा।

nitish bhardwaj 1

 

उन्होंने बताया कि जब दोबारा बुलाया गया तो मुझे इस बार नकुल और सहदेव का रोल दिया गया। मगर मैं इन दोनों में से किसी का भी रोल करने के लिए तैयार नहीं था। मैं अभिमन्यु का रोल करना चाहता था। नीतीश ने बताया कि मुझे महाभारत की कहानी पता थी इसलिए मैं नकुल और सहदेव का रोल नहीं करना चाहता था। नीतीश ने बताया कि मैंने जिद पकड़ ली की मैं अभिमन्यु का ही रोल ही करूंगा। इसी दौरान मुझसे कहा गया कि ठीक है आप घर जाइए। आगे इसपर विचार किया जाएगा।

नीतीश ने बताया कि श्रीकृष्ण बनने का किस्सा दिलचस्प है। दरअसल जब नीतीश भारद्वाज को इस बात का पता चला कि उन्हें श्रीकृष्ण का रोल मिल रहा है तो वे नर्वस हो गये। नीतीश यह रोल नहीं करना चाहते थे। उन्हें लगता था कि श्रीकृष्ण का रोल उनके कद से काफी बड़ा है। उन्हें इस रोल के लिए कॉल आती गई और वे इसे टालते रहे। एक दिन खुद बीआर चोपड़ा ने उन्हें इस रोल के लिए कॉल किया। उन्होंने कहा कि तुम्हारी दिक्कत क्या है? मैं तुम्हें स्क्रीन टेस्ट के लिए बुला रहा हूं और तुम मेरी कॉल इग्नोर किए जा रहे हो। तुम्हें हमेशा से एक अच्छा रोल चाहिए था। कम से कम आकर स्क्रीन टेस्ट तो दे दो। इसके बाद नीतीश भारद्वाज को उस रोल के लिए सिलेक्ट कर लिया जाता है। नीतीश के लिए श्रीकृष्ण का रोल करना उपलब्धि साबित हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *