Breaking News

देवबंद सीट को लेकर सपा में घमासान, कार्तिकेय राणा के बाद माविया अली ने किया नामांकन

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के दौरान सहारनपुर की देवबंद सीट (Deoband Assembly Seat)पर जोरदार हंगामा देखने को मिल रहा है. समाजवादी पार्टी  ने अचानक यहां से प्रत्‍याशी बदल दिया है. इसके साथ दोनों प्रत्‍याशियों ने नामांकन कर दिया है, जो कि घमासान का कारण है. दरअसल नामांकन के आखिरी दिन देवबंद विधानसभा से पूर्व विधायक और सपा नेता माविया अली ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सिंबल पर नामांकन कर सबको चौंका दिया. उनका कहना है कि पार्टी ने अब उनको सिंबल दिया है जिसके चलते उन्होंने आज देवबंद विधानसभा से अपना नामांकन दाखिल कर दिया है.

वहीं, समाजवादी पार्टी की तरफ से 5 दिन पहले देवबंद विधानसभा सीट से पूर्व मंत्री स्वर्गीय राजेंद्र राणा के पुत्र कार्तिकेय राणा (Kartikeya Rana) भी अपना नामांकन दाखिल कर चुके हैं. यही नहीं, कार्तिकेय और माविया अली के बीच में कई दिनों से सोशल मीडिया पर भी लड़ाई छिड़ी हुई है. अली कह रहे हैं कि देवबंद से उनका टिकट फाइनल हो गया है. जबकि कार्तिकेय राणा ने लिखा,’ अफवाहों से बचें टिकट उन्हीं का ही रहेगा.’

सपा के प्रदेश उपाध्यक्ष ने कही ये बात
यही नहीं, माविया अली ने आज समाजवादी पार्टी के सिंबल से अपना नामांकन दाखिल भी कर दिया है. इस बारे में कार्तिकेय राणा से बात करने की कोशिश की गई तो उनसे सम्पर्क नहीं हो सका. हालांकि बताया जा रहा है कि आज शाम तक कार्तिकेय भी कोई बड़ा खेल खेल सकते हैं. वहीं, माविया अली के साथ नामांकन दाखिल करने के लिए पहुंचे समाजवादी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष जगपाल दास गुर्जर ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश के बाद उनको देवबंद विधानसभा से प्रत्याशी घोषित किया गया है. इसके साथ गुर्जर का कहना है कि पार्टी के अंदर अभी कोई गुटबाजी नहीं है. हालांकि एक ही विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के 2 प्रत्याशियों के नामांकन से गुटबाजी साफ नजर रही है.

उत्तर प्रदेश में कब-कब है वोटिंग
यूपी में इस बार सात चरणों में मतदान होना है. इसकी शुरुआत 10 फरवरी को पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. इसके बाद दूसरे चरण में राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा. वहीं, तीसरे चरण में 59, चौथे चरण में 60, पांचवें चरण में 60 सीटों, छठे चरण में 57 और सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा. 10 फरवरी को पहले चरण के मतदान के बाद 14 फरवरी को दूसरे चरण, 20 फरवरी को तीसरे चरण, 23 फरवरी को चौथे चरण, 27 फरवरी को पांचवें चरण, 3 मार्च को छठे चरण और 7 मार्च को सातवें चरण के लिए मतदान होगा. वहीं, यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे.

पिछले विधानसभा चुनाव के ऐसे थे नतीजे
यूपी विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा ने 403 में से 325 सीटों पर जीत दर्ज की थी. सपा और कांग्रेस ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. सपा ने 47 और कांग्रेस ने 7 सीटें ही जीती थीं. मायावती की बसपा 19 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. वहीं, 4 सीटों पर अन्य का कब्जा हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *