Breaking News

दुनिया की 5 ऐसी जगहे, जहाँ जाने की इजाजत किसी को नहीं है

दुनिया में ऐसी कई जगहे है, जो रहस्यों से भरपूर है | अपने इन रहस्यों के चलते वे जगह विश्वभर में प्रसिद्ध भी है | आज हम आपको ऐसी ही कुछ जगहों के बारे में बताने जा रहे है | इन जगहों की खास बात यह है कि किसी को भी वहां जाने की इजाजत नहीं है | तो आइये देखते है, आज इस पोस्ट में आपके लिए क्या खास है |

लसकस गुफा, फ्रांस
 
 
फ्रांस में स्थित लसकस गुफा को साल 1940 में खोजा गया था | ये गुफा इसलिए प्रसिद्ध है, क्योंकि इस गुफा कि दीवारों पर करीब 20 हजार साल पुराने चित्र अंकित है | जो की आदिमानवों द्वारा बनाये गए थे | हालाँकि इस गुफा में किसी को जाने की इजाजत नहीं है | बताया जाता है कि गुफा खतरनाक जीवो से भरी हुयी है, साथ ही ये कभी भी गिर सकती है | इसीलिए सुरक्षा कारणों की वजह से इसमें जाने पर पाबंदी है |
आइज ग्रेट श्राइन, जापान
 
 
जापान के शिंटो क्षेत्र में एक मंदिर है, जिसे द ग्रेट श्राइन ऑफ़ आइज कहा जाता है | इस मंदिर में केवल पुजारी और शाही परिवार से संबंध रखने वाले व्यक्ति को ही जाने की अनुमति है | इस मंदिर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसे हर 20 साल में ध्वस्त कर फिर से बनाया जाता है |
भूमिगत बीज भण्डारण केंद्र, नॉर्वे 
 
 
ये बीज भंडारण केंद्र नॉर्वे के स्वालबर्ड में स्थित है | यहाँ करीब 10 लाख से भी ज्यादा प्रजातियों के बीज संग्रहित किये गए है | ताकि आपातकाल में काम लिए जा सके | बता दे भंडारण केंद्र पहाड़ो के बीच 430 फ़ीट नीचे गहराई में बनाया गया है, ताकि हर मुसीबत से बचाव हो सके | यहां सिर्फ उन्ही लोगो को जाने की अनुमति है, जो यहाँ काम करते है |
वैटिकन अपोस्टोलिक आर्काइव, वेटिकन सिटी
 
 
वेटिकन में गुप्त अभिलेखागार है, जहाँ किसी को जाने की अनुमति नहीं है, सिर्फ पॉप और कुछ ख़ास लोगो के अलावा| इतना ही नहीं यहाँ सुरक्षा के बेहद अत्याधुनिक कड़े इंतजाम है, जहाँ घुसना नामुमकिन है | इसे लेकर बताया जाता है कि यहाँ सदियों पुरानी धार्मिक किताबे रखी गयी है, जो सीधे देवताओ से संबंध रखती है |
हर्ड आइलैंड
 
 
ऑस्ट्रेलिया में मौजूद हर्ड आइलैंड असल में एक ज्वालामुखीय द्वीप है | ये द्वीप हिन्द महासागर से निकला है | यहाँ आज भी एक ज्वालामुखी धधक रहा है | इसीलिए सुरक्षा के मद्देनजर इस पर पर्यटकों के जाने की मनाही है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *