Breaking News

तालिबान का जन्मदाता है US, ब्रिक्स मीटिंग में रूस ने अमेरिका को लताड़ा

ब्रिक्स देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार 15 जून को वर्चुअली मिले। इस मीटिंग में चीन, रूस, भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका ने आतंकवाद और सुरक्षा मसलों को लेकर विस्तार से बातचीत की है। भारत की ओर से इस बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल मौजूदा रहे। इस मीटिंग में रूस ने अमेरिका को जमकर लताड़ लगाई है।

अमेरिका ने बनाया तालिबान और अल-कायदा, बोला रूस
रूसी सरकारी समाचार एजेंसी टास की रिपोर्ट मुताबिक रूस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार निकोले पेत्रुशेव ने कहा है कि अमेरिका ने खुद अल-कायदा और तालिबान जैसे आंतकी आंदोलन का निर्माण किया और अभी भी जियो पॉलिटिकल मकसद के लिए दोनों समूहों का सक्रिय रूप से इस्तेमाल कर रहा है। उन्होंने पश्चिमी देशों को लताड़ते हुए कहा कि हाइब्रिड वॉर में आतंकवाद उनके लिए एक उपकरण की तरह था।

‘आतंकवाद विरोधी मोर्चा बनाए किए बिना आतंक से मुकाबला प्रभावी नहीं’
पेत्रुशेव ने कहा कि रूस आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए जरूरी प्रयास जारी रखे हुए है। उन्होंने यह भी कहा कि एक आतंकवाद विरोधी मोर्चा पेश किए बिना आतंकवाद से मुकाबला प्रभावी नहीं हो सकता है। हम पहले की तरह ही आतंकवाद विरोधी ट्रैक पर सहयोग के लिए तैयार हैं।

‘नए इलाके में पांव पसार रहे आतंकी संगठन’
पेत्रुशेव ने चेतावनी देते हुए कहा कि आतंकी संगठन इराक और सीरिया में अब मूल ताकत खो चुके हैं। ऐसे में वह रणनीति बदल रहे हैं और नए क्षेत्र में गतिविधि का विस्तार कर रहे हैं। युवाओं का एक वर्ग इसकी ओर आकर्षित हो रहा है। आतंकवाद नशीली दवाइयों, हथियारों, मानव अंगों की तस्करी सहित अन्य तस्करी के बीच भी फल-फूल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *