Breaking News

जेल में बंद जावेद “पंप” के मकान को प्रयागराज में बुलडोजर ने किया मलबे में तब्दील

प्रयागराज हिंसा मामले में (In Prayagraj Violence Case) मुख्य आरोपी (Main Accused) जेल में बंद (Jailed) जावेद “पंप” के मकान (Javed “Pump”‘s House) को बुलडोजर ने (By Bulldozers) मलबे में तब्दील किया  ।

नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग को लेकर देश में कई हिस्से में हो रहा प्रदर्शन शुक्रवार और शनिवार को हिंसक हो उठा। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर जमकर पत्थरबाजी की और जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने लाठीचार्ज, आंसू गैस के गोले और फायरिंग का भी उपयोग किया है। हिंसा को शांत करने के बाद पुलिस अब उपद्रवियों को गिरफ्तार करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने में जुटी है। वहीं कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा है कि पीएम मोदी को इस्लामोफोबिया के मामले बढ़ने पर अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए।

यूपी- यूपी के प्रयागराज में सबसे ज्यादा इस मामले को लेकर हिंसा हुई थी। इस मामले में अब मुख्य आरोपी के खिलाफ योगी सरकार बुलडोजर एक्शन कर रही है। मुख्य आरोपी मुहम्मद जावेद उर्फ जावेद पंप के घर को बुलडोर से मलबे में तब्दील किया है। यूपी में अबतक हिंसा को लेकर 300 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया- “राज्य के आठ जिलों से 304 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और इस संबंध में नौ जिलों में 13 प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं। प्रयागराज में 91, सहारनपुर में 71, हाथरस में 51,अंबेडकर नगर और मुरादाबाद में 34-34, फिरोजाबाद में 15, अलीगढ़ में छह और जालौन में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।”

दिल्ली- शुक्रवार को दिल्ली के जामा मस्जिद के पास भी नमाज के बाद विरोध-प्रदर्शन हुआ था। यह प्रदर्शन बिना प्रशासन की अनुमति के किया गया था। इस मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं जामा मस्जिद के शाही इमाम का कहना है उन्हें इस प्रदर्शन के बारे में जानकारी नहीं थी। मस्जिद की ओर से किसी को भी नहीं बुलाया गया था। ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई करे।

झारखंड- रांची में शुक्रवार को भड़की हिंसा के बाद रविवार को तनाव बरकरार है। हालांकि यहां अब इंटरनेट सेवा बहाल कर दी गई है। तनाव को देखते हुए रांची और आसपास के इलाकों में सुरक्षा बलों की तैनाती आज भी जारी है। कई इलाकों में कर्फ्यू भी लगा हुआ है। हिंसा को लेकर पुलिस ने पांच हजार अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इसमें दो दर्जन नामजद आरोपी हैं। इस हिंसा में कई लोग घायल हो गए थे और दो की मौत हो गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *