Breaking News

चीनी हमले में घायल जवान की आंखों देखी, कहा ‘हम 200 थे, वो एक हजार’

लद्दाख की गलवान घाटी में हुए भारत और चीन के बीच खुनी संघर्ष की वजह से सियासत गरम है | इसकी वजह से दूसरे देश भी भारत के चीन के साथ बिगड़ते रिश्तो को लेकर चिंता जता रहे है | बता दे चीन के सैनिको के साथ हुए संघर्ष में हमारे 20 सैनिक शहीद हो गए | संघर्ष के बीच जवान सुरेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए थे |
घायल सुरेंद्र सिंह का इलाज लद्दाख के सैनिक अस्पताल में चल रहा था | उन्हें करीब 12 घंटे बाद होश आया है, उन्होंने अपने साथ हुए पुरे घटनाक्रम को अपने परिजनों को बताया | बता दे ऐसा पहली बार है, जब किसी घायल ने चीन की साजिश बयान की है |
उन्होंने बताया कि चीनी सैनिकों ने धोखे से गलवान घाटी से निकलने वाली नदी पर अचानक भारतीय सैनिकों पर हमला कर दिया | उनके बीच करीब 4 से 5 घंटे तक नदी में ही बीच खूनी संघर्ष चलता रहा | उस समय वहां भारत के करीब दो से ढाई सौ जवान मौजूद थे, वहीँ जबकि चीन के 1000 से अधिक जवान थे |
उन्होंने बताया कि गलवान घाटी की नदी में हाड़-मांस को गला देने वाला ठंडा पानी बहता है, उसी नदी में उनकी लड़ाई चलती रही | उन्होंने बताया कि जहां यह संघर्ष हुआ वहां नदी के किनारे केवल एक आदमी निकल सके, इतनी ही जगह थी | इसलिए भारतीय सैनिकों को संभलने में बहुत परेशानी हुई अन्यथा भारतीय सैनिक किसी से कम नहीं थे |
उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिक चीन के सैनिकों को सबक सिखा सकते थे लेकिन चीनी सैनको ने उन पर साजिश और धोखे से हमला किया | उन्होंने बताया कि 5 फ़ीट गहरे पानी में 5 घंटे तक संघर्ष करते रहे, इसी बीच उनके सिर पर चोट लगने की वजह से वे घायल हो गए | फिर उनके साथियों ने उन्हें बाहर निकला और जब उन्हें होश आया तो वे हॉस्पिटल में थे |
बता दे अब वे स्वस्थ है, उनका एक हाथ फ्रैक्चर हुआ है और सिर में 1 दर्जन से ज्यादा टाँके आये है | जानकारी के लिए बता दे सुरेंद्र सिंह राजस्थान के अलवर के नौगांवा के रहने वाले है | गलवान घाटी में हुयी घटना की वजह से उनके परिजन बहुत चिंतित थे | हालाँकि सुरेंद्र सिंह से फ़ोन पर बात होने के बाद उनके परिजनों का ढांढस बंधा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *