Breaking News

कोरोना वायरस: “5,000 रुपए दो और अपनी मरी हुई मां का चेहरा देखों”

कोरोना काल में जहां जरूरतमंदों की मदद की अनगिनत कहानियां सामने आईं, वहीं इंसान की शक्ल में लूट-खसोट करने वालों की भी कमी नहीं रही. मानवता को शर्मसार करने वाली ऐसी ही एक घटना ओडिशा के क्योंझार जिले में हुई है. यहां एक महिला की कोविड-19 से मौत होने के बाद श्मशान-गृह में अतिंम संस्कार किया जा रहा था. महिला के बेटे ने मां के चेहरे के अंतिम बार दर्शन करने चाहे तो श्मशान-गृह पर तैनात एक कर्मचारी ने इसके लिए 5,000 रुपए की मांग की.

शव का चेहरा दिखाने के लिए घूस की मांग करने वाली ये पूरी घटना कैमरे में कैद हो गई. ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान अधिक संख्या में मौतों की वजह से श्मशान-गृहों में अंतिम संस्कार के लिए भी बारी का इंतजार करना पड़ रहा था. उसी वक्त की ये घटना है श्मशान-गृह के स्टाफ सदस्य को वीडियो में ये कहते सुना जा सकता है, “अगर तुम 5,000 रुपए दोगे, तभी मैं चेहरा पूरी तरह देखने दूंगा, नहीं तो जैसे शव पीपीई किट में पैक मिला है, वैसे ही उसका अंतिम संस्कार कर दूंगा.”

घूस मांगने वाले को जब पता चला कि उसकी बातचीत मृतक महिला के बेटे की ओर से मोबाइल में रिकॉर्ड की जा रही है, तो उसने इस पर सवाल किया. इस पर महिला के बेटे ने जवाब दिया, “अगर मैं अपनी मरी हुई मां का सिर्फ चेहरा देखने के लिए 5,000 रुपए दे रहा हूं तो मैं इसे रिकार्ड भी करूंगा और इंटरनेट पर अपलोड भी करूंगा, चाहे इसके लिए मुझे जेल ही क्यों न जाना पड़े.” क्योंझार के जिला कलेक्टर आशीष ठाकरे ने आज तक को बताया, हमें इस तरह का एक वीडियो मिला है, मैंने इस पर जांच के आदेश दिए हैं. जांच पूरी होने के बाद उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी. क्योंझार जिले के कृष्णापुर गांव की रहने वाली महिला को कोरोना से सक्रमित होने के बाद जिला प्रशासन की ओर से संचालित कोविड-अस्पताल में भर्ती कराया गया था. महिला की मौत के बाद उसके शव को अस्पताल प्रबंधन की ओर से घर वालों को सौंपे जाने के बाद श्मशान-गृह लाया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *