Breaking News

उन्नाव केस: जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही है तीसरी लड़की, सरकार पर हमलावर हुई विपक्ष

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दलित लड़कियों की मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। बुधवार को असोहा के खेत में तीन दलित नाबालिग लड़कियां संदिग्ध हालत में मिली थीं, जिसमें दो की मौत हो गई है, जबकि एक का इलाज कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में चल रहा है। भीम आर्मी से लेकर कांग्रेस तक, सभी ने लड़की को दिल्ली एयरलिफ्ट करने की मांग की है।

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट करके कहा, ‘उन्नाव केस की एकमात्र गवाह बच्ची का बेहतर इलाज व उसकी सुरक्षा सबसे जरूरी है, बच्ची को तत्काल एयर एंबुलेंस से AIIMS दिल्ली लाया जाए, उत्तर प्रदेश सरकार का अपराधियों को संरक्षण व अपराधियों के मामले में सरकार की कार्यशैली को देश हाथरस कांड में देख चुका है।’

वहीं, जिग्नेश मेवाणी ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश के सभी लोगों से मेरी अपील है की जब तक उन्नाव की दुर्घटना की पीड़ित बहनों के आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तब तक उनकी लाश को स्वीकार न करें, न्याय के लिए दबाव बनाएं, एक बहन की अच्छे से अच्छे अस्पताल में चिकित्सा की जाए।’

समाजवादी पार्टी ने कहा, ‘बेटियों के लिए काल बन चुके भाजपा शासित यूपी में सत्ता संरक्षित नृशंस अत्याचार की एक और विचलित कर देने वाली घटना का केंद्र बना उन्नाव! जंगल में पेड़ से बांध कर दो दलित लड़कियों की हत्या, एक अति गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती, अत्यन्त दुखद! दरिंदों को कठोरतम सजा दिला हो न्याय।’

वहीं, कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा, ‘उन्नाव में दो दलित बच्चियां मृत पाई गरी है, तीसरी गंभीर घायल हैं, तुरंत एयरलिफ्ट करके एम्स, दिल्ली में इलाज किया जाय।’

असोहा थाना क्षेत्र के बबुरहा गांव में तीन लड़कियां खेत में बेहोशी के हालात में मिली थीं। घटनास्थल पर काफी सारा झाग पड़ा था। डॉक्टर के द्वारा प्रथम दृष्ट्या प्वाइजन सिम्पटम्स बताए गए हैं। तीन में दो लड़कियों की मौत हो चुकी है, जबकि एक की हालत नाजुक है। उसे कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती लड़की का सीटी स्कैन कराया गया है। लड़की को अभी होश नहीं आया है। उधर, लड़की की मां का कहना है कि लड़कियों के हाथ-पांव नहीं बंधे हुए थे और कपड़े भी ठीक थे। हां, उनके मुंह से झाग निकल रहा था। उनको खेत से उना हॉस्पिटल लाया गया, जहां दो की मौत हो गई।

दो दलित नाबालिग लड़कियों की मौत के बाद लखनऊ में हड़कंप मच गया। मौके पर आईजी और डीआईजी समेत कई पुलिस अफसर पहुंच गए। उन्नाव के एसपी आनंद कुलकर्णी ने कहा कि घटनास्थल पर मौजूद लोगों के बयान दर्ज कर गहराई से जांच की जा रही है। आवश्यक विदित कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *