Breaking News

उत्तराखंड की राज्यसभा में खाली हो रही एक सीट के लिए BJP ने भेजे 10 नेताओं के नाम, जानिए कौन-कौन हैं दावेदार

उत्तराखंड की राज्यसभा (Rajya Sabha) की खाली हो रही एक सीट के लिए भारतीय जनता पार्टी में दस दावेदारों के नाम सामने आ रहे हैं. हालांकि इस सीट पर बीजेपी ( BJP) का जीतना है. लिहाजा हर कोई अपने लिए लॉबिंग कर रहा है. राज्य इकाई ने आलाकमान को दस लोगों के नाम भेजे हैं और वह एक नाम पर अपनी मुहर लगाएगा. हालांकि ये भी हो सकता है कि आलाकमान अपनी तरफ से किसी अन्य नाम को शामिल कर उस पर मुहर लगाए. जानकारी के मुताबिक दस लोगों में पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह (Trivendra Singh Rawat) का नाम सबसे आगे है. जबकि इस लिस्ट में पूर्व सीएम विजय बहुगुणा का नाम शामिल नहीं किया गया है.

बताया जा रहा है कि बीजेपी ने राज्यसभा चुनाव के लिए दस नेताओं का एक पैनल पार्टी आलाकमान को भेजा है और इनमें पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत और पार्टी के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार समेत दस नाम शामिल हैं. कांग्रेस के राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा का कार्यकाल खत्म होने के कारण इस सीट पर चुनाव होना है और राज्य में बीजेपी के इस सीट को जीतने के लिए संख्या बल है. लिहाजा जीत सुनिश्चित है. लिहाजा हर कोई इस सीट पर दावेदारी कर रहा है. राज्य के पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत काफी समय से हाशिए पर हैं और राज्य से वह इस सीट के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. रावत संगठन से लेकर सरकार में रह चुके हैं. गौरतलब है कि राज्यसभा सीट के लिए 10 जून को चुनाव प्रस्तावित हैं. विधानसभा में वर्तमान में बीजेपी के 46, कांग्रेस के 19, बीएसपी के दो और दो निर्दलीय विधायक हैं.

पैनल से बाहर का भी हो सकता है प्रत्याशी

जानकारी के मुताबिक राज्य इकाई ने जिन दस लोगों के नाम पार्टी हाईकमान को भेजे हैं. उन नामों के अलावा पार्टी किसी बाहरी नेता को प्रत्याशी बना सकती है. चर्चा है कि पार्टी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल को उत्तराखंड से राज्यसभा भेज सकती है. क्योंकि उनका कार्यकाल खत्म हो रहा है. खासबात ये है कि राज्यसभा चुनाव के उम्मीदवार के पैनल में पूर्व मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा का नाम शामिल नहीं है. बताया जा रहा है कि धामी कैबिनेट में उनके बेटे और सितारगंज के विधायक सौरभ बहुगुणा के शामिल होने के कारण वह दौड़ से बाहर हो गए हैं.

इन लोगों के नाम हैं पैनल में शामिल

राज्य बीजेपी की तरफ से जो नाम केन्द्रीय आलाकमान को भेजे गए हैं. उसमें पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत, प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार, पूर्व उपाध्यक्ष ज्योति गैरोला, भाजपा अनुशासन समिति के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष केदार जोशी, अल्पसंख्यक आयोग की अध्यक्ष कल्पना सैनी, भाजपा ओबीसी मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्यामवीर सैनी, पूर्व विधायक आशा नौटियाल, राष्ट्रीय एससी-एसटी आयोगी की पूर्व सदस्य स्वराज विद्वान का नाम शामिल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *