Wednesday , September 30 2020
Breaking News

अमेरिका में पिछले 24 घंटे में आए 70 हजार नए मामले, अबतक 36 लाख से ज्यादा संक्रमित

कोरोना महामारी ने सबसे ज्यादा नुकसान महाशक्ति कहलाने वाले राष्ट्र अमेरिका को पहुंचाया है. यहां एक लाख 40 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. दुनिया में सबसे तेजी से कोरोना संक्रमितों की संख्या अमेरिका में ही बढ़ रही है. बुधवार को अमेरिका में 70 हजार से ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए और 958 लोगों ने अपनी जान गंवा दी. अमेरिका में पिछले दो महीनों की तुलना में अब दोगुना कोरोना मरीजों की संख्या हर दिन बढ़ रही है. इन दिनों दुनिया में सबसे ज्यादा मौतें हर दिन ब्राजील में हो रही हैं.

अमेरिका में अबतक 140,101 लोगों की मौत
वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, अमेरिका में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या गुरुवार सुबह तक बढ़कर 36 लाख 15 हजार पार हो गई. कुल 1 लाख 40 हजार 101 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि 16 लाख 44 हजार लोग ठीक भी हुए हैं, जो कुल संक्रमितों का 44 फीसदी है. 18 लाख 31 हजार लोगों का अस्पतालों में अभी इलाज चल रहा है, जो कुल संक्रमितों का 52 फीसदी है. अमेरिका में कुल 4 फीसदी कोरोना संक्रमित लोगों की मौत हुई है.

अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में सबसे ज्यादा 430,277 केस सामने आए हैं. सिर्फ न्यूयॉर्क में ही 32,495 लोग मारे गए हैं. इसके बाद कैलिफॉर्निया में 355,285 कोरोना मरीजों में से 7,361 लोगों की मौत हुई. इसके अलावा न्यू जर्सी, टेक्सस, मैसाचुसेट्स, इलिनॉयस, फ्लोरिडा भी सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं.

डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर है
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर है. उन्होंने इससे जुड़ी कोई अन्य जानकारी नहीं दी. ट्रंप के ट्वीट के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि जल्द ही अमेरिका से कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर आ सकती है.

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अमेरिका में कोरोना की जिस पहली वैक्सीन का ट्रायल किया गया है वह वैज्ञानिकों की उम्मीद के मुताबिक लोगों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. इस वैक्सीन का ट्रायल अब फाइनल स्टेज में है.

इस वैक्सीन को नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ हेल्थ ऐंड मॉडर्ना इंक में फाउची के सहकर्मियों ने बनाया है. 27 जुलाई के आसपास 30,000 लोगों पर यह पता लगाने के लिए शोध होगा कि यह वैक्सीन कोरोना वाायरस से बचाव में कितनी प्रभावशाली है. हालांकि मंगलवार को शोधकर्ताओं ने 45 लोगों पर किए शुरुआती परीक्षण के निष्कर्ष बताए जिनके मुताबिक इस टीके से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *