Breaking News

नवरात्र के पहले दिन कर ले उपाय, देखना कैसे दूर होती है धन की कमी

जल्द ही नवरात्र आरम्भ होने जा रहे है | हिन्दू धर्म के प्रमुख पर्वो में से एक नवरात्र का अपना बड़ा महत्व है | नवरात्र के दिनों में की गयी देवी की पूजा से जीवन के हर दुःख दर्द होते है | इतना ही वास्तु शास्त्र  और ज्योतिष शास्त्र में ऐसे कई उपाय बताये गए है, जो नवरात्र के दिनों में किये जाने से हर मनोकामना पूर्ण होती है | वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि यदि नवरात्रो के पहले दिन माँ लक्ष्मी को प्रसन्न कर लिया जाए तो कई जीवन में धन सम्पत्ती की कमी समाप्त हो जाती है | आज हम आपके लिए वे ख़ास उपाय लेकर आये है तो आइये जानते है, आज की इस पोस्ट में क्या ख़ास है |
माँ लक्ष्मी का प्रतीक कौड़ियां
 
 
वैसे तो किसी भी समस्या से छुटकारा पाने के लिए नवरात्रो को सबसे उत्तम माना जाता है | नवरात्र में माता अपने भक्तो से शीघ्र प्रसन्न होती है, और उन्हें मनचाहा वरदान प्रदान करती है | यदि आपके जीवन में धन और पैसे से जुडी परेशानी चल रही है, तो आप माँ लक्ष्मी का प्रतीक कौड़ियों की पूजा अर्चना करे | हालाँकि इस बात का ध्यान रखे कि आप अपनी आर्थिक परेशानी के अनुसार ही कौड़ी का चुनाव करे |
कर्ज से मुक्ति
 
 
यदि आप कर्ज के बोझ तले दबे हुए है और कई कोशिशों के बाद भी कर्ज चुकाने में असमर्थ है | तो आप नवरात्र के पहले दिन ये उपाय करे | आप नवरात्र के पहले दिन काले रंग की कौड़ी और मालती पौधे की जड़ लेकर पीले रंग के कपड़े में बाँध ले | इसके बाद धुप दिखाकर माँ लक्ष्मी की पूजा कर इसे अपने गले में ताबीज की भांति बांध ले | इससे आपको कर्ज से मुक्ति मिलेगी, साथ ही धन लाभ भी होंगे |
धन की बचत
 
 
यदि आपके पास धन नहीं रुकता है और चाह कर भी आप धन की बचत नहीं कर पाते है, तो ऐसी स्थिति में पीली कौड़ी आपकी मदद कर सकती है | इसके लिए आप नवरात्र के पहले दिन 7 पीले रंग की कौड़ी ले और माता लक्ष्मी की पूजा में रखे | इसके बाद एक पीले कपडे में इन कौड़ियों को बाँध ले | इसके बाद इस पोटली को अपने धन रखने के स्थान पर रख दे, इससे शीघ्र ही आप पर माँ लक्ष्मी की कृपा बनेगी |
आय में वृद्धि
 
 
यदि कामकाज या व्यापार में स्थिति सही नहीं चल रही है | नुकसान का सामना करना पड़ रहा है, तो ऐसी स्थिति में आप नवरात्र के पहले दिन सफ़ेद रंग की 11 कौड़ियों को पीले रंग कपड़े में बाँध ले और इसे धन रखने के स्थान पर या कार्यक्षेत्र में रख ले | इससे आप पर माँ लक्ष्मी की कृपा बनेगी और आपकी आय में वृद्धि होगी |
कौड़ियों का महत्व
 
 
जानकारी के लिए बता दे समुन्द्र मंथन में प्राप्त हुए 14 रत्नो में पांचजन्य शंख की भी प्राप्ति हुयी थी | पांचजन्य शंख भी कौड़ी का ही एक रूप है | प्राचीन काल में कौड़ियों का प्रयोग मुद्रा के रूप में भी होता था | साथ ही चौसर और चौपड़ जैसे खेलो में पासो के रूप में आज भी इनका इस्तेमाल किया जाता रहा है | इसके अलावा तंत्र विद्या में कौड़ियों का बड़ा महत्व है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *