Breaking News

सहारनपुर : प्रस्तावित एलीवेटिड हाइवे से शिवालिक वन क्षेत्र के साथ ही राजा राष्ट्रीय पार्क और भ्रमण करते टाइगर दिखेंगे

रिर्पोट :- गौरव सिंघल, वरिष्ठ संवाददाता, सहारनपुर मंडल।
सहारनपुर (दैनिक संवाद न्यूज ब्यूरो)। सहारनपुर जनपद में गांव गणेशपुर से मोंड तक और उससे आगे उत्तराखंड की सीमा को मिलाकर प्रस्तावित निर्माणाधीन 19 किलोमीटर के ऐलीवेटेड राष्ट्रीय राजमार्ग पर लोगों को ऐसा अद्भुत नजारा मिलेगा कि शिवालिक वन क्षेत्र के बीच बनने वाले ऐलीवेटेड हाइवे से वन में विचरण करते टाइगर, हाथी और बारहसिंघा हिरण आदि दिखाई देंगे।
इस परियोजना की जानकारी देते हुए कमिश्नर सहारनपुर संजय कुमार ने आज संवाददाताओं को बताया कि ऐलीवेटेड रोड़ का निर्माण गणेशपुर के आगे नर्सरी के पास से होगा और जो नया एलाइनमेंट फाइनल हुआ है उसकी लंबाई करीब साढ़े तीन किलोमीटर है जो ऐलीवेटेड रोड़ के रूप में होगी। इस परियोजना पर 2000 करोड़ रूपए का व्यय आएगा। ऐलीवेटेड रोड़ बनने से शिवालिक वन क्षेत्र जो 33229 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला हुआ है में जीव जंतुओं को टाइगर एवं हाथियों को भ्रमण करने में सुविधा मुहैया हो जाएगी। शिवालिक वन क्षेत्र 40 से 50 किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है।
राजा जी राष्ट्रीय पार्क के धोलखंड क्षेत्र से टाइगरों का विचरण शुरू हो जाता है। शिवालिक के मोंड रेंज से 10 किलोमीटर की दूरी पर है। पशु-पक्षी विशेषज्ञ एवं पक्षियों के शौकीन फोटोग्राफर पर्यावरणविद् संजय कुमार ने बताया कि 40 से 50 किलोमीटर का क्षेत्र ऐसा है। जिसमें टाइगर भ्रमण करते हैं और उन्होंने राज्य सरकार और केंद्र सरकार से इस क्षेत्र को टाइगर रिजर्व शिवालिक वन क्षेत्र घोषित करने का प्रस्ताव भेजा है। उम्मीद है अक्टूबर-नवंबर में इसे स्वीकृति मिल जाएगी। कमिश्नर संजय कुमार ने बताया कि दिल्ली से देहरादून पहुंचने में करीब ढाई सौ किलोमीटर की दूरी तय करनी होती है।
दिल्ली-गाजियाबाद- मेरठ-मुजफ्फरनगर – रूडकी होकर जाया जाता है। नए प्रस्तावित हाइवे के तहत दिल्ली से बागपत- शामली- सहारनपुर के रास्ते देहरादून जाने की दूरी 70 किलोमीटर घटकर केवल 180 किलोमीटर रह जाएगी। जिससे दिल्ली से देहरादून ढाई घंटे में पहुंचा जा सकेगा और सहारनपुर से देहरादून 45 मिनट में यात्रा पूरी हो जाएगी। कमिश्नर संजय कुमार  ने बताया कि भारत माला परियोजना के तहत दिल्ली से देहरादून तक इकनामिक कोरिडोर के रूप में प्रस्तावित इस हाइवे के निर्माण की जिम्मेदारी नेशनल हाइवे  अथारिटी आफ इंडिया को दी गई। कमिश्नर संजय कुमार ने प्रस्तावित ऐलीवेटेड रोड़ से अवैध कब्जे हटवाने का निर्देश संबंधित विभागों को दिया है ताकि तेजी के साथ हाइवे का निर्माण हो सके। इसी के साथ मां शाकुम्बरी देवी मार्ग को भी दिल्ली- सहारनपुर हाइवे फोर लेन बनाने की घोषणा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दो साल पहले सहारनपुर में की थी। मां शाकुम्बरी देवी मार्ग को भी राष्ट्रीय राजमार्ग और फोर लेन बनाने में केंद्र ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *