Breaking News

OMG : अब कुत्तों और घोड़ों को पेंशन देगा ये देश

दुनिया के लगभग हर देश में कुत्ते और घोड़े जैसे जानवर भी राष्ट्र की सेवा में अपना योगदान देते हैं. ये जानवर इमारत ढहने पर मलबे में दबे लोगों का पता लगाते हैं, भगोड़े लोगों को ढूंढने में मदद करते हैं, ड्रग्स और विस्फोटक से जुड़े मामलों की जांच में मदद करते हैं और उपद्रवी भीड़ को नियंत्रित करने में भी सहायता देते हैं (Pension For Dogs and Horses). इतना सब करने के बदले इन्हें केवल खाना और रहने के लिए जगह मिलती है. लेकिन सेवानिवृत्त होने के बाद ये सब भी इनसे छिन जाता है. सरकार भी इनकी देखभाल करना बंद कर देती हैं. लेकिन यूरोपीय देश पोलैंड (Poland) अब इसी समस्या का हल निकालने जा रहा है.

पोलैंड पुलिस, बॉर्डर गार्ड और दमकल सेवाओं से सेवानिवृत्त होने वाले अपने कुत्तों और घोड़ों को पेंशन देने की योजना बना रहा है, ताकि देश की सेवा करने वालों को सेवा के बाद भी सामाजिक सुरक्षा मिल सके (Poland Plans to Give Pensions For Dogs Horses). अभी तक सेवारत कुत्तों और घोड़ों को सेवानिवृत्ति के बाद सरकारी देखभाल मिलनी बंद हो जाती है और उन्हें गैर सरकारी संगठनों या ऐसे लोगों को सौंप दिया जाता है जो उन्हें गोद लेना चाहते हैं.

सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन देने की योजना

अब सुरक्षा बलों/पुलिस के सदस्यों की अपील पर गृह मंत्रालय (Poland Government) ने एक नए कानून का प्रस्ताव रखा है, जिसके तहत इन कुत्तों और घोड़ों को आधिकारिक दर्जा और सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन देने की योजना है, ताकि इनके नए मालिक उनकी देखभाल पर आने वाले मोटे खर्च से परेशान ना हों. गृह मंत्री मॉरिस कमिन्सकी ने प्रस्तावित कानून के मसौदे को नैतिक जिम्मेदारी बताया है, जिसे संसद से आम सहमति मिलनी चाहिए. ये विधेयक साल के अंत में संसद में पेश होगा. उन्होंने कहा कि अगर एक से अधिक इंसानों को बचाया गया है, एक से अधिक खतरनाक अपराधी भी पकड़े गए हैं, तो इस सेवा के लिए काम करने वाले जानवरों को धन्यवाद कहिए.

1200 कुत्तों को मिलेगा फायदा

इस नए कानून का वर्तमान में (Dogs and Horses in State Employment) सेवा दे रहे करीब 1200 कुत्तों और 60 से अधिक घोड़ों को लाभ मिलेगा. सरकार के अनुसार, हर साल करीब 10 फीसदी जानवर सेवानिवृत्त होते हैं. कुत्तों में अधिकतर जर्मन और बेल्जियन शेफर्ड हैं. वारसॉ पुलिस स्निफर डॉग ओर्बिटा के हैंडलर पावेल कुचनिओ ने कहा कि सेवानिवृत्त होने वाले कुत्तों को लगभग महंगी चिकित्सा देखभाल की जरूरत होती है. कुचनिओ ने कहा कि पेंशन के इन पैसों से काफी मदद मिलेगी और चीजें आसान होंगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *