Breaking News

JNU डॉक्यूमेंट्री मामले में पुलिस को मिलीं तीन शिकायतें, SFI ने भी भरी हुंकार

जेएनयू कैंपस (JNU Campus) में मंगलवार रात प्रतिबंधित डॉक्यूमेंट्री इंडिया : द मोदी क्वेश्चन (Banned Documentary India: The Modi Question) देखने के दौरान विवाद मामले में वसंतकुंज (नार्थ) थाना पुलिस को बुधवार को तीन शिकायतें (three complaints) मिली हैं। दो शिकायतें एबीवीपी और एक शिकायत आईसा की ओर से दी गई है।

हालांकि, इस मामले में पुलिस को मंगलवार रात व बुधवार को किसी तरह की पीसीआर कॉल नहीं मिली। वहीं, जेएनयू कैंपस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस ने कैंपस में पथराव की बात से इंकार किया है। दूसरी तरफ वाम छात्र संगठन ने फिल्म दिखाने को लेकर फिर हुंकार भरी है।

दक्षिण-पश्चिमी जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार, एबीवीपी की ओर से दो शिकायतें दी गई हैं। एक शिकायत पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष आईसी घोष ने दी है। आईसी घोष ने चार लाइन की शिकायत दी है। एक वामपंथी छात्र की एमएलसी बनी है। एमएलसी में छात्र को अंदरूनी चोटें नहीं लगने बात है। कैंपस में पत्थरबाजी होने की कोई शिकायत नहीं मिली है। अगर पत्थरबाजी होती तो किसी को चोट लगती, लेकिन किसी को चोट नहीं लगी है।

विवाद के बाद जब छात्र जेएनयू के गेट पर आए थे तो वहां तैनात पीसीआर को अनौपचारिक रूप से जानकारी दी गई थी। जेएनयू प्रशासन ने भी पुलिस को किसी तरह की सूचना नहीं दी है। इसके बावजूद जेएनयू की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है।

एसएफआई का ऐलान
जेएनयू छात्रों ने बुधवार को कहा कि वे प्रधानमंत्री मोदी पर बीबीसी द्वारा तैयार डॉक्यूमेंट्री फिर से दिखाएंगे, जिसे भारत सरकार ने दुष्प्रचार बताकर खारिज कर दिया है। स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के महासचिव ने कहा कि उनकी सभी राज्यों के लोगों में जाकर डॉक्यूमेंट्री दिखाने की योजना है।

जेएनयू में वसंत पंचमी पर सरस्वती पूजा आज
जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय कैंपस में बृहस्पतिवार यानी 26 जनवरी वसंत पंचमी की पूजा आयोजित की जाएगी। जेएनयू के पर्यावरण विज्ञान संस्थान की ओर से सरस्वती पूजा का आयोजन किया जा रहा है। विश्वविद्यालय में हर वर्ष छात्र वसंत पंचमी पर सरस्वती पूजा करके परीक्षा से पहले आर्शीवाद लेते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *