Breaking News

Budget 2021: बजट में चुनाव की छाप, केरल-तमिलनाडु में भारतमाला प्रोजेक्ट पर करोड़ों रुपये होंगे खर्च

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को अपना तीसरा बजट पेश किया. बजट भाषण में उन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं के साथ-साथ रेलवे के लिए भी बड़ी घोषणाएं कीं. इसी के साथ देश में सड़कों का जाल बिछाने के लिए अतिरिक्त आवंटन का ऐलान किया. इस दिशा में भारतमाला प्रोजेक्ट पर बड़ा खर्च हो रहा है. वित्त मंत्री ने कहा कि भारतमाला प्रोजेक्ट के लिए 3.3 लाख करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं.

वित्त मंत्री ने कहा, रोड इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए इकोनॉमिक कॉरिडोर बनाए जाएंगे. 3500 किमी नेशनल हाईवेज प्रोजेक्ट के तहत तमिलनाडु में 1.03 लाख करोड़ रुपए खर्च होंगे. इसका कंस्ट्रक्शन अगले साल शुरू होगा. 1100 किमी नेशनल हाईवे केरल में बनेंगे. इसके तहत मुंबई-कन्याकुमारी कॉरिडोर भी बनेगा. केरल में इस पर 65 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे. बंगाल में 25 हजार करोड़ रुपए की लागत से हाईवे बनेंगे. कोलकाता-सिलीगुड़ी रोड का अपग्रेडेशन होगा. 34 हजार करोड़ रुपये असम में नेशनल हाईवेज पर खर्च होंगे.

इससे पहले वित्त मंत्री ने पुराने वाहनों को चरणबद्ध तरीके से हटाने के लिए स्वैच्छिक वाहन स्क्रैपिंग नीति की घोषणा की. इसके लिए निजी वाहनों के लिए 20 साल बाद फिटनेस परीक्षण का प्रस्ताव लाया गया है. अपने भाषण के दौरान वित्त मंत्री ने कहा, 2021-22 का बजट 6 स्तंभों पर टिका है. इसका पहला स्तंभ स्वास्थ्य और कल्याण, दूसरा-भौतिक और वित्तीय पूंजी और अवसंरचना, तीसरा-अकांक्षी भारत के लिए समावेशी विकास, मानव पूंजी में नवजीवन का संचार करना, पांचवा-नवाचार और अनुसंधान और विकास, छठा स्तंभ-न्यूनतम सरकार और अधिकतम शासन है.

 

इस बजट में विधानसभा चुनाव की छाप देखी जा रही है. इस साल देश के 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव है, जिनमें असम, केरल, तमिलनाडु, बंगाल और पुडुचेरी शामिल हैं. केरल, तमिलनाडु और बंगाल में सरकार ने भारतमाला प्रोजेक्ट में करोड़ो रुपये खर्च करने का ऐलान किया है. इससे सड़कों की सुविधा बढ़ेगी और लोगों का आवागमन आसान होगा.

वित्त मंत्री ने Budget2021 के भाषण की शुरुआत उन अभूतपूर्व परिस्थितियों से की, जिनके माध्यम से देश और दुनिया ने महामारी के दौरान COVID वारियर्स द्वारा प्रदान की गई सेवा महत्वपूर्ण सेवा को देखा. वित्त मंत्री ने कहा, सरकार ने गरीब से गरीब व्यक्तियों तक लाभ पहुंचाने के लिए अपने संसाधनों को बढ़ाया. पीएम गरीब कल्याण योजना, तीन AatmanirbharBharat पैकेज और उसके बाद कई घोषणाएं अपने आप में पांच मिनी बजट की तरह थीं.

वित्त मंत्री ने कहा, सभी AatmaNirbharBharat पैकेजों का कुल वित्तीय प्रभाव, जिसमें RBI द्वारा उठाए गए उपाय शामिल हैं, लगभग 27.1 लाख करोड़, जीडीपी से 13% से अधिक है. उन्होंने कहा, गरीबों लोगों के लाभ के लिए सरकार ने अपने संसाधनों को बढ़ाया है. पीएम गरीब कल्याण योजना, तीन AatmanirbharBharat पैकेज और उसके बाद की घोषणाएं अपने आप में पांच मिनी बजट की तरह थीं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *