Breaking News

दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम का उदघाटन आज, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद होंगे शामिल

दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम मोटेरा का उदघाटन बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृहमंत्री अमित शाह की उपस्थिति में करेंगे। अहमदाबाद में साबरमती के निकट बने मोटेरा स्टेडियम ने दुनिया के अब तक के सबसे बड़े ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न स्टेडियम को पछाड़ दिया है। इसी के साथ दुनिया की सबसे बड़ी सरदार पटेल की प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के बाद अब सबसे बड़े स्टेडियम होने का गौरव भी राज्य ने प्राप्त कर लिया है। यहां भारत और इंग्लैंड के मध्य तीसरा टेस्ट मैच भी होना है। महामहिम रामनाथ कोविंद बुधवार को दो दिवसीय यात्रा पर गुजरात पहुंच गए हैं।

लाल और काली मिट्टी की 11 पिच

मोटेरा को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिकल्पना के अनुरूप सजाया गया है, इसमें तीन कॉरपोरेट बॉक्स, अंतरराष्ट्रीय स्तर का स्विमिंग पूल, इनडोर अकादमी, खिलाड़ियों के विशेष ड्रेसिंग रूम, क्लब हाउस और फूड कोर्ट है। यह देश का पहला स्टेडियम हैं, जहां लाल और काली दोनों तरह ही पिच हैं। इसमें छह लाल और पांच काली मिट्टी से तैयार की गई हैं। जहां दोनों तरह की पिच पर एक साथ अभ्यास किया जा सकता है।

शानदार ड्रेनेज सिस्टम : विशेष पानी की निकासी की सुविधा के कारण मूसलाधार बारिश की स्थिति में महज 30 मिनट में पिच को सुखाया जा सकता है। इस स्टेडियम की एक विशेषता 9 मीटर की ऊंचाई पर 360 डिग्री पोडियम कोनकार्स को देखने वालों के लिए सुलभ बनाती है। यानी दर्शकों को हर स्टैंड से एक समान दृश्यावलोकन होगा। इसके अलावा यहां के कारपोरट बॉक्स में एक साथ 25 लोग बैठ सकेंगे।

अत्याधुनिक जिम : यहां खिलाड़ियों के लिए टीम के अनुसार बड़े ड्रेसिंग रुम और दो अलग अलग अत्याधुनिक जिम बनाए गए हैं। स्टेडियम में एक विशेष ऑटोग्राफ गैलरी भी बनाई गई है, जहां विश्वकप से लेकर अब तक हुए ऐतिहासिक मैच और आईपीएल मैच के खिलाड़ियों के हस्ताक्षर किए बैट का कलेक्शन रखा गया है। इसी तरह से एक हाल जिसे हाल ऑफ फेम का नाम दिया गया है उसमें विश्व के सभी क्रिकेटरों की तस्वीरों से सजाया गया है।

दो साल में तैयार भव्य स्टेडियम : मोटरा स्टेडियम को 2016 में ध्वस्त करके फिर से नए सिरे से लगभग 800 करोड़ की लागत से बनाया गया है। गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन के मातहत आने वाला स्टेडियम हाइटेक सुख-सुविधाओं से लैस है। केवल दो साल के रिकॉर्ड समय में बना स्टेडियम अंतरराष्ट्रीय पैमाने पर सभी मानकों में अव्वल है, इसमें आंतरिक वातानुकूलित सिस्टम से लेकर इसकी दर्शक क्षमता तक शामिल है। पहले इसकी क्षमता 54,000 दर्शकों की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *