Breaking News

3 लव मैरिज, हर बार नाम बदला, अफसाना तो कभी अंजलि, पर तीसरे पति ने क्यों की हत्या?

गाजियाबाद (Ghaziabad) के भव्या शर्मा हत्याकांड (Bhavya Sharma murder case) में पुलिस की जांच में नए-नए खुलासे हो रहे हैं. बताया जा रहा है कि भव्या ने तीन शादियां की थीं. लेकिन, तीसरे पति विनोद शर्मा के साथ रहते हुए भी वह अपने दूसरे पति के साथ बात कर रही थी. इसी बात से नाराज विनोद शर्मा ने  चाकू घोंपकर उसकी हत्या कर दी थी. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

हत्या की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी विनोद ने ही भव्या के मायके वालों को फोन कर सूचना दी. इसके बाद पुलिस को बुलाया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि युवती की पेट में चाकू घोंपा गया था, जिससे उसकी मौत हो गई. आरोपी युवती की मौत मामले में अलग-अलग बयान दे रहा था. इसी पर पुलिस अधिकारियों को शक हुआ. विनोद ने सिद्धार्थ विहार के वृंदावन एन्क्लेव में 25 दिसंबर की शाम को घटना को अंजाम दिया था. उसने पुलिस को बताया कि भव्या उसे धोखा दे रही थी.

‘अनीश दे रहा था धमकी’,

आरोपी विनोद ने बताया कि भव्या का दूसरा पति अनीश ने उसे गाजियाबाद छोड़कर चले जाने की धमकी दी थी, उसने कहा था कि अगर वह ऐसा नहीं करेगा तो उसे अपनी जान से हाथ धोना पड़ेगा. इसके बाद से वह भव्या से खुन्नस रखने लगा था. भव्या खुद नौकरी करती थी और उसकी ही कमाई से घर चलता था. विनोद कोई काम-धंधा नहीं करता था. भव्या के भाई टीपू ने विनोद के खिलाफ विजयनगर थाने में हत्या का केस दर्ज कराया है.

हत्या वाले दिन दोनों ने शराब पी थी

विनोद के मुताबिक, हत्या वाले दिन दोनों ने शराब पी थी. इस दौरान भव्या को उसने ज्यादा शराब पिलाई. फिर मौका देख भव्या के पेट में चाकू घोंप दिया. भव्या ने कुछ साल पहले अपना पेट का ऑपरेशन कराया था, इस वजह से उसकी पेट पर कट के निशान थे. विनोद ने जान-बूझकर उसी कट के निशान के पास चाकू घोंपा, ताकि लोगों को कट का पता नहीं चल सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *