Breaking News

15-18 साल के बच्चों को लगेगी केवल Covaxin, 1 जनवरी से Cowin पर बुक कर सकते हैं स्लॉट

जनवरी में बच्चों का टीकाकरण शुरू होने से पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जानकारी दी है कि भारत बायोटेक की कोवैक्सिन (Covaxin) ही एकमात्र ऐसी वैक्सीन होगी, जो 15-18 साल के आयु वर्ग के बच्चों को दी जाएगी. मंत्रालय ने सोमवार को यह भी घोषणा की कि स्वास्थ्य कर्मी, फ्रंटलाइन कर्मी और 60 से अधिक उम्र के लोग दूसरी डोज मिलने के 39 सप्ताह बाद तीसरी ‘प्रीकॉशन डोज’ प्राप्त कर सकते हैं. दरअसल इस बात को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी कि बच्चों को कौन सी वैक्सीन लगाई जाएगी. जिसके बाद सरकार की तरफ से ये जानकारी दी गई है.

मंत्रालय ने कहा है, ‘अत्यधिक एहतियात के तौर पर, उन स्वास्थ्य कर्मियों (एचसीडब्ल्यू) और फ्रंट लाइन वर्कर्स (एफएलडब्ल्यू) को, जिन्होंने दो डोज प्राप्त की हैं, 10 जनवरी, 2022 से कोविड-19 वैक्सीन की एक और डोज दी जाएगी. इसकी प्राथमिकता और सीक्वेंसिंग दूसरी डोज दिए जाने की तारीख से 9 महीने बाद यानी 39 सप्ताह के पूरा होने पर आधारित होगी.’ टीनेजर्स को वैक्सीन लगाने और कमजोर प्रतिरक्षा वालों को प्रीकॉशन डोज (Precautionary Dose) देने का फैसला कोरोनो वायरस संक्रमण के हाल ही में दुनिया में बढ़ते मामलों और इसके नए ओमिक्रॉन वेरिएंट का पता लगने और वैज्ञानिक साक्ष्यों को देखते हुए लिया गया है.

3 जनवरी से शुरू होगा टीकाकरण

मंत्रालय ने कहा कि फैसला लेते वक्त टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के ‘कोविड-19 वर्किंग ग्रुप’ के साथ-साथ एनटीएजीआई की ‘स्थायी तकनीकी वैज्ञानिक समिति (एसटीएससी)’ के सुझाव को भी ध्यान में रखा गया. सरकार का कहना है कि 2007 और उससे पहले जन्म लेने वाले बच्चे वैक्सीन प्राप्त करने के पात्र होंगे (Vaccine Available For Children in India). दिशा-निर्देशों के अनुसार, ’15-18 साल के बच्चों का टीकाकरण 3 जनवरी, 2022 से शुरू किया जाएगा. इनके लिए केवल कोवैक्सीन का विकल्प रखा गया है.’

कैसे कर सकते हैं पंजीकरण?

लाभार्थी कोविन पोर्टल पर मौजूदा अकाउंट से या फिर मोबाइल नंबर से एक नया अकाउंट बनाकर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं. बच्चे अपने माता-पिता के मौजूदा कोविन अकाउंट का उपयोग करके भी स्लॉट बुक कर सकते हैं (How to Book Slot For Vaccination). कोविन इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने वाले एनएचए के सीईओ डॉक्टर आरएस शर्मा ने कहा, बच्चों के लिए 1 जनवरी से स्लॉट बुक किए जा सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘छात्र पहले से सूचीबद्ध नौ दस्तावेजों का उपयोग कर सकते हैं (वयस्क टीकाकरण से संबंधित). इसके अतिरिक्त, वे अपने स्टूडेंट पहचान पत्र का भी उपयोग कर सकते हैं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *