Breaking News

हिंसा के बाद हावड़ा के पुलिस कमिश्नर हटाया गया, 70 से ज्यादा लोग गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के हावड़ा में (In Howrah) हिंसा के बाद (After Violence) पुलिस कमिश्नर (Police Commissioner) को हटाया गया (Removed) और 70 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किये गए (More than 70 People Arrested) । पैगंबर पर विवादित टिप्पणी के खिलाफ शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हिंसा भड़क उठी थी। देश कई राज्यों में लोग सड़कों पर उतरे, तो कई जगह पथराव हुआ, वहीं पश्चिम बंगाल के हावड़ा में लगातार दूसरे दिन फिर से भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया। वहीं हावड़ा में कानून व्यवस्था की खराब स्थिति को देखते हुए यहां के पुलिस कमिश्नर और पुलिस अधीक्षक को बदल दिया गया है।

पश्चिम बंगाल के हावड़ा स्थित पंचला बाजार में शनिवार सुबह एक बार फिर से पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच भिडंत हो गई। उपद्रवियों ने पुलिस पर पत्थर चलाये और फिर पुलिस ने उपद्रवियों को हटाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। प्रदर्शनकारी निलंबित बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के विवादित बयान को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। उपद्रवियों ने तोड़फोड़ और आगजनी की। इलाके में धारा 144 लागू होने के बावजूद प्रदर्शन करने के लिए प्रदर्शनकारी पहुंचे, वहीं बंगाल बीजेपी अध्यक्ष सुकांता मजूमदार घटना स्थल पर जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उन्हें पुलिस ने घटना स्थल पर जाने से रोक दिया।

बंगाल में पिछले 2 दिनों से हुई हिंसा के लिए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “जैसा कि मैं पहले भी कह चुकी हूं कि हावड़ा में पिछले दो दिनों से हिंसक घटनाएं हो रही हैं। इसके पीछे कुछ राजनीतिक दल हैं और वे दंगे कराना चाहते हैं, लेकिन इन्हें बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और उन सभी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बीजेपी का गुनाह देश के लोग क्यों भुगते?”

शुक्रवार को भी सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में अलग-अलग स्थानों पर रेल की पटरियों को अवरूद्ध किया, वहीं राज्य सरकार ने ऐहतियाती कदम उठाते हुए हावड़ा जिले में शुक्रवार शाम को इंटरनेट सेवा स्थगित कर दिया। गृह एवं पर्वतीय मामलों के विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि सोमवार (13 जून 2022) सुबह छह बजे तक इंटरनेट बंद रहेगा। आदेश में कहा गया है कि वॉयस कॉल और एसएमएस सेवाएं जारी रहेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *