Breaking News

हनुमान चालीसा विवाद : राणा दम्पति पर अब सेशन कोर्ट में 15 जून को सुनवाई

अमरावती संसदीय क्षेत्र की सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) और उनके विधायक पति रवि राणा (Ravi Rana) को बुधवार को मुंबई सत्र न्यायालय ने जमानती उल्लंघन (Bailable Violation by Mumbai Sessions Court) मामले में राहत दी है। सत्र अदालत ने इस मामले की सुनवाई 15 जून तक के लिए स्थगित कर दिया है।

मुंबई सत्र न्यायालय में नवनीत राणा तथा रवि राणा पर जमानती शर्तों का उल्लंघन करने पर इन दोनों को दी गई जमानत रद्द करने तथा फिर से दोनों को पुलिस कस्टडी में भेजे जाने के लिए राज्य सरकार ने आवेदन दिया था। इसी आवेदन पर सत्र न्यायालय नवनीत राणा तथा रवि राणा पर कठोर कार्रवाई न करने का आदेश पुलिस को दिया है। साथ ही इस मामले की सुनवाई 15 जून तक स्थगित कर दी है।

 

हनुमान चालीसा विवाद के बारे में राणा दम्पति को 23 अप्रैल को पुलिस ने राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। मुंबई सत्र न्यायालय ने इन दोनों को 2 मई को सशर्त जमानत दी थी। अदालत ने राणा दम्पति को मीडिया के सामने न बोलने तथा इस मुद्दे पर पत्रकार वार्ता न करने की हिदायत दी थी। इसके बावजूद 8 मई को लीलावती अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद नवनीत राणा ने मीडिया के सामने मुख्यमंत्री पर हमला बोल दिया था।

इन दोनों ने लीलावती अस्पताल के बाहर पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा था कि वे दोनों हनुमान चालीसा के लिए 14 दिन क्या 14 साल जेल में बिताने को तैयार हैं। साथ ही नवनीत राणा ने कहा था कि अगर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे में हिम्मत है तो वह राज्य के किसी भी जिले से मेरे खिलाफ चुनाव लड़ें। रवि राणा ने राज्य सरकार की भी आलोचना की थी।

सरकारी वकील दीपक घरात ने कोर्ट को बताया कि राणा दम्पति के कोर्ट की शर्तों का उल्लंघन किया है। राणा दम्पति के वकील रिजवान मर्चंट ने कहा कि नवनीत राणा इस समय दिल्ली में संसदीय कार्य में व्यस्त हैं, इसलिए मामले की सुनवाई के लिए वक्त दिया जाना चाहिए। इसी वजह से कोर्ट ने मामले की सुनवाई 15 जून तक के लिए स्थगित कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *