Breaking News

सोने के भाव में आया उछाल, जानें आज कितना महंगा हुआ सोना

पिछले सत्र में तेज गिरावट के बाद बुधवार को सोने और चांदी (Gold Silver Price) की कीमतों में तेजी आई है. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (MCX) पर सोने-चांदी के वायदा भाव में 160 रुपए तक उछाल आया है. एमसीएक्स पर अक्टूबर वायदा सोने (Gold Price) का दाम 0.34 फीसदी प्रति 10 ग्राम मजबूत हुआ है. वहीं दिसंबर वायदा चांदी (Silver Price) की कीमत में 0.20 फीसदी प्रति किलोग्राम की तेजी दर्ज की गई है.

मंगलवार कमजोर वैश्विक संकेतों के चलते सोने और चांदी में लगभग 1 फीसदी की गिरावट आई थी. अमेरिकी डॉलर में मजबूती और अमेरिकी बॉन्ड यील्ड्स में तेजी का असर सोने पर पड़ा.

सोना-चांदी का नया भाव (Gold-Silver Price on 8 September 2021)-

रुपए में कमजोरी की वजह से बुधवार को एमसीएक्स पर अक्टूबर वायदा सोने का दाम 161 रुपए बढ़कर 47,100 रुपए प्रति 10 ग्राम हो गया. वैश्विक बाजारों में, सोना 1,800 डॉलर प्रति औंस के महत्वपूर्ण स्तर से नीचे था, क्योंकि मजबूत अमेरिकी डॉलर और हाई बॉन्ड यील्ड्स ने कीमती धातु के सेफ-हेवन अपील पर असर पड़ा है.

पिछले सेशन में 1,791.90 डॉलर प्रति औंस फिसने के बाद आज स्पॉट गोल्ड सपाट 1,796.03 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहा है.

वहीं, दिसंबर वायदा चांदी की कीमत 129 रुपए की बढ़ोतरी के साथ 64,750 रुपए प्रति किलोग्राम हो गई. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में चांदी की कीमत 0.1 फीसदी बढ़कर 24.32 डॉलर प्रति औंस हो गई.

बता दें कि मंगलवार को दिल्ली के सर्राफा बाजार में 99.9 फीसदी वाले सोने के दाम 37 रुपये गिरकर 46,417 रुपये पर आ गए जबकि चांदी का भाव 332 रुपये गिरकर 63,612 रुपये प्रति किलोग्राम पर आ गया. अमेरिकी डॉलर में आई तेजी के चलते अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सोने की कीमतें एक बार फिर से गिर गई है. इन्हीं संकेतों का असर घरेलू बाजार पर दिख रहा है.

सिर्फ 14, 18 और 22 कैरेट वाला मिलेगा सोना

गोल्ड हॉलमार्किंग सोने की शुद्धता का एक सर्टिफिकेट है. सभी ज्वैलर्स को सिर्फ 14 कैरेट, 18 कैरेट और 22 कैरेट वाले गोल्ड की बिक्री की ही इजाजत है. BIS अप्रैल 2000 से गोल्ड हॉलमार्किंग की स्कीम चला रही है. मौजूदा समय में सिर्फ 40 फीसदी ज्वैलरी की ही हॉलमार्किंग हुई है.

ज्वैलर्स की सुविधा के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को ऑनलाइन और ऑटोमैटिक कर दिया गया है. विश्व स्वर्ण परिषद (डब्ल्यूजीसी) के मुताबिक भारत में करीब चार लाख ज्वैलर्स हैं, जिनमें से 35,879 बीआईएस सर्टिफाइड हैं.

अगर कोई भी ज्वैलर बिना हॉलमार्किंग के गोल्ड ज्वैलरी बेचता पाया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. एक साल की जेल के अतिरिक्त उस पर गोल्ड ज्वैलरी की वैल्यू की पांच गुना तक पेनल्टी भी लगाई जा सकती है.

हर कैरेट के सोने के लिए हॉलमार्क नंबर अंकित किए जाते हैं. ज्वैलर्स की ओर से 22 कैरेट के लिए 916 नंबर का इस्तेमाल किया जाता है.

18 कैरेट के लिए 750 नंबर का इस्तेमाल करते हैं और 14 कैरेट के लिए 585 नंबर का उपयोग किया जाता है. इन अंकों के जरिए आपको पता चल जाएगा कि सोना कितने कैरेट का है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *