Breaking News

सीमा पर टेंशन खत्म करने को तैयार भारत-चीन, पूर्वी लद्दाख से पीछे हटेंगे दोनों देशों के सैनिक

भारत-चीन के बीच लद्दाख बार्डर पर पैदा हुए विवाद में नई जानकारी सामने आई है। पूर्वी लद्दाख में गलवान समेत तीन जगहों से चीन की सेनाएं पीछे हट गई हैं। चीन की पीपुल्स लिबेरशन आर्मी गलवान इलाका, पेट्रोलिंग प्वॉइंट 15 और हॉट स्प्रिंग इलाके से अपनी सेना और वाहनों को ढाई किलोमीटर पीछे लेकर चले गए हैं। इसी प्रकार भारत ने भी अपने कुछ सैनिकों की वापसी की है। दोनों सेनाओं के बीच उस समय गतिरोध शुरू हुआ जब भारत द्वारा गलवान घाटी में दारबुक-शयोक-दौलत बेग ओल्डी के साथ-साथ पेगोंग झील के आसपास फिंगर इलाके में महत्वपूर्ण सड़क का निर्माण शुरू किया गया और चीन ने इसका विरोध किया।

lac china india   pti file photo

उधर, नेपाल के उप प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री ईश्वर पोखरेल ने कहा है कि वह भारत के साथ सीमा विवाद को बातचीत के जरिए हल करेंगे। पोखरेल ने कहा, ‘हम भारत के साथ सीमा विवाद को वार्ता के जरिए सुलझाएंगे, हम लगातार इस बात को कह रहे हैं। सेना तैनात करने का कोई मतलब नहीं है।’

भारत और चीन की सेना (फाइल फोटो)

उल्लेखनीय है कि साल 2017 में डोकलाम तिराहा क्षेत्र में भारत और चीन के सैनिकों के बीच 73 दिन तक गतिरोध चला था, जिससे दोनों देशों के बीच युद्ध की आशंका उत्पन्न हो गई थी। लद्दाख विवाद को हल करने के लिए भारत औऱ चीन के बीच बातचीत का दौर जारी है। भारतीय सेना के कुछ सदस्य चुशुल में चीन के साथ अगले कुछ दिनों में वार्ता कर सकते हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक सैन्य दल के सदस्य चुशुल में हैं और वे अगले कुछ दिनों में होने वाली बातचीत की तैयारी कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *