Breaking News

सियाचिन में -30 डिग्री में ड्यूटी के दौरान हार्ट अटैक से मप्र के जवान का निधन

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के शिवपुरी जिले (Shivpuri district) में सिरसौद क्षेत्र के ग्राम खरई भाट निवासी भारतीय सेना के जवान (Indian army soldiers) 26 वर्षीय अमर शर्मा (Amar Sharma) की लद्दाख सीमा पर सियाचिन की पहाड़ियों में माइनस 30 डिग्री में ड्यूटी के दौरान हार्ट अटैक आने से मौत हो गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री चौहान ने गुरुवार की देर शाम ट्वीट के माध्यम से कहा, “लद्दाख में पदस्थ देश के वीर सपूत, मध्यप्रदेश के शिवपुरी के लाल अमर शर्मा के मां भारती की सेवा करते हुए निधन का समाचार अत्यंत दुखदायी है। ईश्वर से दिवंगत दिव्य आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान और परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं।”

उन्होंने अगले ट्वीट में कहा है कि “मां भारती के लाल, मध्यप्रदेश के वीर सपूत अमर शर्मा का परिवार अब हमारा परिवार है। दु:ख की इस घड़ी में परिवार स्वयं को अकेला न समझे। वे एक परिवार के बेटे नहीं हैं, पूरे प्रदेश व देश के बेटे हैं। उनके चरणों में विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।”

जानकारी के अनुसार आर्मी हेड क्वार्टर से गुरुवार को सुबह अमर शर्मा के परिजनों को बेटे के मौत की सूचना मिली थी। इसके बाद से परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। बताया जा रहा है कि अमर का पार्थिव शरीर शुक्रवार को दोपहर तक शिवपुरी आने की संभावना है। उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव खरई भाट में ही किया जाएगा। निधन की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन की ओर से शिवपुरी एसडीएम गणेश जायसवाल ने अमर के घर पहुंचकर शोक संवेदना व्यक्त की और हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

उल्लेखनीय है कि ग्राम खरई घाट में 1996 में जन्मे अमर शर्मा ने 2015 में सेना की भर्ती परीक्षा दी थी। इसमें चयन होने के बाद उन्होंने जबलपुर में ट्रेनिंग की और उनकी पहली पोस्टिंग गुवाहाटी में हुई थी। दो साल बाद उनकी पोस्टिंग लद्दाख के सियाचिन में हुई, जहां बुधवार को ड्यूटी के दौरान हार्ट अटैक आने से उनका निधन हो गया। अमर शर्मा के पिता सियाराम शर्मा पेशे से किसान हैं। अमर की दो साल पहले 2020 में शादी हुई थी।

अमर के पिता सियाराम शर्मा ने बताया कि 9 नवंबर को कई महीनों बाद अमर घर आने वाला था। अमर से मंगलवार को दिवाली के दिन फोन पर बात हुई थी। घर आने के लिए अमर काफी उत्साहित था। दो महीने के लिए उसे छुट्टी मिली थी। अमर की पोस्टिंग भी चेंज हो चुकी थी। छुट्टियां बिताने के बाद उसे पठानकोट में ज्वाइन करना था लेकिन इससे पहले उसके निधन की खबर आ गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *