Breaking News

साल 2022 में शनिदेव रहेंगे मेहरबान, करे ये 2 मंत्रो का जाप

शनि के परिवर्तन का असर हर राशि पर होता है। 2022 का पहला दिन शनिवार को पड़ रहा है। ज्योतिषियों (astrologers) के मुताबिक जो लोग शनि दोष से छुटकारा पाना चाहते हैं उनके लिए नए साल का पहला दिन शुभ साबित होगा। नव वर्ष (New year) में शनि का खास परिवर्तन भी होगा। ऐसे में शनि के प्रकोप से बचने शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए एक जनवरी बेदह खास है।

2022 की सुबह पहले दिन स्नानकर साफ वस्त्र धारण कर घर के पूजा स्थल पर भगवान के सामने दीया जलाएं। इसके बाद भगवान गणेश (lord ganesh) की पूजा करें। शिव (Shiva) का ध्यान कर ‘ओेम् नमः शिवाय’ (Om Namah Shivaya) का 108 बाक करें। अगर मंदिर जाना संभव है तो वहां जाकर शिवलिंग (Shivling) को जल अर्पित करें। शिवलिंग को जल अर्पित कर महामृत्युंजय मंत्र (Mahamrityunjaya Mantra) ‘ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्’ का कम से कम 11 बार जाप करें।

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए 1 जनवरी के दिन पूजा घर में सरसों तेल का दीया जलाएं। साथ ही इस दिन काले तिल, काली उड़द, काला छाता और लोहे आदि का दान करें। इसके अलावा शाम के समय किसी शनि मंदिर में ‘ओम शं शनैश्चराय नम:’ (Om Shanaishcharaya Namah) का जाप करें। मंत्र जाप अपनी क्षमता के हिसाब से करें।

शनिवार की सुबह स्नान के बाद तेल का दान करें। इसके लिए एक कटोरी में तेल लेकर उसमें अपना चेहरा देखें। इसके बाद इस तेल को किसी जरूरतमंद इंसान को दें। हनुमानजी को सिंदूर और चमेली का तेल चढ़ाएं। हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ करें। हनुमानजी की पूजा से शनि का प्रकोप कम होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *