Breaking News

सहारनपुर : ट्रेनों में अपराधों पर अंकुश के लिए राजकीय पुलिस आधुनिक तकनीक से की गई लैस : अर्पणा गुप्ता

रिर्पोट : सुरेंद्र सिंघल/गौरव सिंघल, विशेष संवाददाता, दैनिक संवाद,सहारनपुर मंडल।

सहारनपुर (दैनिक संवाद)। ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने और आपराधिक वारदातों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य की पूर्ति के लिए उत्तर प्रदेश राजकीय रेलवे पुलिस को आधुनिक तकनीक से लैस किया गया है। एसपी जीआरपी अर्पणा गुप्ता आईपीएस ने आज बताया कि जीआरपी कोतवाली सहारनपुर, मुरादाबाद और गाजियाबाद के अंतर्गत ट्रेनों में एस्कोर्ट के रूप में चलने वाले सिपाहियों की बोड़ी पर वार्न कैमरे लगाए गए हैं। जिसमें ट्रेनों के भीतर की सभी गतिविधियां कैद होती रहेंगी और यदि ट्रेनों में कोई अप्रिय वारदात होती है तो अपराधियों और असामाजिक तत्वों के फोटो भी उसमें आ जाएंगे। जिनकी मदद से आसानी से पुलिस अपराधियों तक पहुंच सकेगी।

एसपी रेलवे जीआरपी अर्पणा गुप्ता ने कहा कि जीआरपी ने ट्रेनों में यह प्रयोग अभी हाल ही में शुरू किया है। हम देखना चाहते हैं कि इसका कितना असर दिखाई देता है। उसके बाद इस सुविधा को अन्य थाना क्षेत्रों में भी लागू किया जाएगा। ट्रेन में बोड़ी वार्न कैमरों से लैस जीआरपी के सिपाहियों का आत्म विश्वास पहले से कई गुना ज्यादा बढ़ गया है। अभी तक यह भी देखने में आता था कि टोका-टाकी करने पर दबंग किस्म के यात्री या फिर असामाजिक तत्व जीआरपी के सिपाहियों पर हाथ डाल देते थे। लेकिन अब किसी के लिए भी ऐसा करके बच निकलना आसान नहीं होगा। अर्पणा गुप्ता ने कहा कि सिपाहियों को इस नई सुविधा के साथ प्रशिक्षण दिया जा रहा है। भारी मात्रा में सिपाही प्रशिक्षण पूरा करके और इन सुविधाओं से लैस होकर ड्यूटी भी दे रहे हैं। सहारनपुर से होकर मेरठ-दिल्ली को और मुरादाबाद-लखनऊ-वाराणसी को कई महत्वपूर्ण ट्रेनों का संचालन होता है। करीब एक दर्जन ट्रेनों में जीआरपी का एस्कोर्ट चलता है। सहारनपुर जीआरपी थाने को 22 कैमरे और मुरादाबाद एवं गाजियाबाद थानों को 30-30 से ज्यादा कैमरों की सुविधा दी गई है। जिसे अच्छे नतीजे मिलने पर और भी ज्यादा बढ़ाया जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *