Breaking News

सहारनपुर : इतिहास रचने के साथ हुआ मोक्षायतन का स्थापना दिवस राज्यपाल, भागवत, सहस्रबुद्धे, सुभाषचंद्रा ने पुष्पवर्षा से योगगुरु को दी जन्मदिन शुभकामनाएं

रिर्पोट :- गौरव सिंघल,विशेष संवाददाता,दैनिक संवाद,सहारनपुर मंडल।
सहारनपुर। आज समाज ने जनमंच सभागार को पहली बार योग की दिव्यता से जगमगाते हुए इतनी बड़ी अनुशासित भीड़ के साथ देखा। मोक्षायतन का स्थापना दिवस आज एक इतिहास रच गया। प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सरसंघ चालक मोहन भागवत का स्वागत सेना के अश्वारोही योग साधकों ने घोड़ों की पीठ पर योगाभ्यास से किया और सस्थान की ४९ बरस की यात्रा को आयोजकों ने बड़े खूबसूरत तरीके से बीस मिनट में समेटकर रख दिया। सरसंघचालक मोहन भागवत ने मोक्षायतन योग संस्थान की 49 वें स्थापना दिवस को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी अभियान की परिकल्पना तो एक तपस्वी की होती है लेकिन उसको विराट रूप देने में हर व्यक्ति के योगदान का महत्व होता है और सब के सामूहिक योगदान से ही कोई संकल्प इस पूर्णता तक पहुंच पाता है जो आज हम देख पा रहे हैं.
उन्होंने कहा कि मोक्षायतन योग संस्थान के सबसे बड़ी विशेषता यह है की योग गुरु स्वामी भारत भूषण ने अपने अनुभव और तपस्या को अपने तक ही सीमित न रखकर के खुले हाथों से देश और दुनिया तक पहुंचाया है और उसका परिणाम यह है कि मोक्षायतन की अगली पीढ़ी भी पूरी तरह से तैयार है और इस संसार उन्होंने कहा कि हर कार्य का एक समय होता है और समय से लिए गए निर्णय किसी कार्य को सफल परिणति तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं l मोक्षायतन योग संस्थान के 49 साल के यात्रा को चंद मिनटों में मनोहरी तरीके से समेटने से भावविभोर प्रदेश की राज्यपाल महामहिम आनंदीबेन पटेल ने कहा कि इस स्थापना दिवस के आयोजन से मैं अपने आप को धन्य महसूस कर रही हूं और अब मुझे प्रतीक्षा रहेगी कि मोक्षायतन की स्वर्ण जयंती में इससे भी अधिक उपलब्धियों के साथ हम सभी लोग फिर से इकट्ठा होंगे और उस योग यात्रा को पर्व के रूप में मनाएंगे ।
सांस्कृतिक नृत्य योगाभ्यास कला और संस्कृति की विश्व स्तरीय प्रस्तुतियों ने खचाखच भरे जनमन सभागार को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर संघ प्रमुख मोहन भागवत का नागरिक अभिनंदन करते समय उन्हें भक्ति और शक्ति के प्रतीक हनुमान जी का विग्रह भी संस्था की ओर से योग गुरु पद्म श्री स्वामी भारत मिशन द्वारा प्रदान किया गया! सभागार उस समय तालियों की लगातार गड़गड़ाहट और भारत मां की जय के नारों से गूंज उठा जब योग गुरु स्वामी भारत भूषण ने संघ प्रमुख मोहन भागवत को अपने हाथों से पगड़ी बांधी व वेद के संगठन सूक्त से राष्ट्रीय प्रार्थना का उच्चारण व स्वस्तिवाचन किया मोक्ष आयतन योग संस्थान का सर्वोच्च सम्मान भारत योग स्वास्थ्य श्री प्राप्त करते समय गवर्नर श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि पूर्व में महामहिम राष्ट्रपति लोकसभा अध्यक्ष व अन्य विभूतियों की श्रंखला में भारत योग स्वास्थ्य श्री सम्मान प्राप्त करना मेरे लिए गौरव का विषय है उन्होंने मोक्ष आयतन योग संस्थान के बहुआयामी कार्यकलापों को भारतीय संस्कृति कला अध्यात्म के लिए उपयोगी बताते हुए उसे राष्ट्र के नवनिर्माण में 1 मील का पत्थर बताया और कहा यह स्वयं में एक मिसाल है कि इतना बड़ा कार्य जिसका विस्तार सिर्फ देश नहीं दुनिया तक है उसे योग गुरु स्वामी भारत भूषण की संकल्प शक्ति ने बिना किसी सरकारी अनुदान या वित्तीय सहायता के बिना संभव करके दिखाया है।
उन्होंने योग गुरु की संकल्प शक्ति को  सराहा जिन्होंने ४९ साल पहले 21 वर्ष की आयु में अपने जन्मदिन पर इतने प्रकल्पों की के साथ हमे मोक्षायतन योग संस्थान दिया, अब  हमारा कर्तव्य है कि मोक्ष आयतन योग संस्थान द्वारा किए जा रहे इस राष्ट्र यज्ञ में हम सभी लोग सहभागी बने। उन्होंने  राज्यसभा सांसद और जी नेटवर्क के चेयरमैन सुभाष चंद्रा को पत्रकारिता को सैद्धांतिक दिशा देने के लिए सर्वोत्तम सम्मान प्रदान किया गया। सुभाष चंद्रा ने अपने अनूठे अंदाज में समाज के शारीरिक स्वास्थ्य मानसिक सोच और कार्य दिशा को सकारात्मक रूप देने के लिए मुख्य संयोजन की भूमिका को सराहा। सॉफ्ट डिप्लोमेसी से देश को मजबूती व वैश्विक गौरव देने में कला संस्कृति व अध्यात्म के सफल प्रयोग करने के लिए विख्यात भारतीय सांस्कृतिक परिषद के अध्यक्ष और प्रखर चिंतक विनय प्रभाकर सहस्त्रबुद्धे को इस आयोजन में संस्कृति दूत सम्मान से अलंकृत किया गया। उन्होंने योग के जरिए विदेशों में भारत का सम्मान बढ़ाने में मोक्षायतन की उल्लेखनीय भूमिका की चर्चा की और आशा व्यक्त की कि आई सी सी आर की गतिविधियों को मोक्षायतन का भरपूर सहयोग मिलेगा।
आज अपना दिवस कार्यक्रम में भारत सरकार की ओर से पहला अंतरराष्ट्रीय योग गीत देने के लिए पुरस्कृत धीरज सारस्वत, प्रधानमंत्री द्वारा घोषित माय योगा ब्लॉगिंग प्रतियोगिता के राष्ट्रीय विजेता उसके बाद अंतरराष्ट्रीय विजेता बन चुके प्रणय शर्मा, प्रधानमंत्री के ही अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार श्रृंखला में मॉरीशस देश की राष्ट्रीय विजेता बनने वाली भारत की 10 वर्षीय प्रत्यक्षा सारस्वत, सर्वोत्तम शाखा संचालन के लिए नोएडा शाखा के नवनीश शर्मा और मुरादाबाद शाखा के अमित गर्ग को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और संघ प्रमुख मोहन भागवत द्वारा प्रमाण पत्र और विजयों पहार से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का सफल संचालन विश्व विख्यात योगाचार्या, अंतर्राष्ट्रीय कथक नृत्यांगना व पूर्व में राजनयिक रह चुकी आचार्या प्रतिष्ठा ने कुछ इस तरह किया कि सभी मंत्रमुग्ध हो गए। आज मोक्षायतन योग संस्थान के संस्थापक योग गुरु स्वामी  का जन्मदिन भी  होने पर आर एस एस प्रमुख मोहन भागवत, गवर्नर आनंदीबेन पटेल, भारतीय कृतिक संबंध परिषद के अध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे और राज्यसभा सांसद सुभाष चंद्रा ने सामूहिक रूप से पुष्प वर्षा करके योग गुरु स्वामी भारत भूषण को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम में सांसद कैराना  प्रदीप चौधरी, सहारनपुर के पूर्व सांसद राघव लखन पाल, विधायक मुकेश चौधरी विधायक कुंवर पाल सिंह, विधायक राजीव गुंबर आदि के अलावा आरएसएस के सूर्यप्रकाश , प्रेम जी प्रान्त संघचालक,
नरेंद्र जी सह प्रान्त संघचालक, महेंद्र जी क्षेत्र प्रचारक, श्री अनिल जी प्रान्त प्रचारक,श्री राकेशवीर जी विभाग संघचालक के दिल्ली से श्री रविन्द्र जी,हरीश श्री अमित एक श्री वेदपाल जी प्रवीर कुमार के अलावा मोक्षायतन के अंतर्राष्ट्रीय निदेशक धीरज सारस्वत, राष्ट्र वंदना प्रकोष्ठ प्रमुख विद्यार्णव शर्मा, मीडिया प्रमुख नीरज सारस्वत सहित देश के विविध भागों के प्रतिनिधि और नगर के गण्यमान लोग इतनी बड़ी तादाद में मौजूद रहे कि जनमंच सभागार खचाखच भर जाने के बाद बाहर खड़े होकर भी श्रद्धा पूर्वक शांति से कार्यक्रम में शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *