Breaking News

सरसों तेल समेत सभी खाने के तेल की कीमत में आई गिरावट, जानें नए दाम

आम आदमी के लिए दिवाली और छठ पूजा (Diwali & Chhath puja) से पहले खाने का तेल (Edible oil price down) सस्ता हो गया है। त्योहारी सीजन (Festival season) में आम लोगों को राहत देते हुए अडाणी विल्मर (adani wilmar) और रुचि सोया (Ruchi soya) इंडस्ट्रीज समेत प्रमुख खाद्य तेल कंपनियों (Edible oil price) ने थोक दामों में 4-7 रुपये प्रति लीटर की कटौती की है।

खाने का तेल हुआ सस्ता

उद्योग निकाय सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (SEA) के अनुसार बाकी और कंपनियों भी जल्दी ही इस प्रकार का कदम उठा सकती है। एसईए के अनुसार खाद्य तेलों की थोक दरों में कमी करने वाली कंपनियों में जेमिनी एडिबल्स एंड फैट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (हैदराबाद), मोदी नैचुरल्स (दिल्ली), गोकुल रिफॉइल्स एंड सॉल्वेंट लिमिटेड (सिद्धपुर), विजय सॉल्वेक्स लिमिटेड (अलवर) गोकुल एग्रो रिसोर्सेज लिमिटेड और एनके प्रोटींस प्राइवेट लिमिटेड (अहमदाबाद) शामिल हैं.

कम किए गए दाम

एसईए नेत्योहारों के दौरान उपभोक्ताओं को ज्यादा दामों से राहत देने के लिए ऐसा करने की अपील की। इन कंपनियों ने थोक कीमतों में कमी कर दी है। एसईए के अध्यक्ष अतुल चतुर्वेदी के अनुसार, ‘उद्योग से प्रतिक्रिया काफी उत्साहजनक है। इससे पहले भी थोक दामों में 4,000-7,000 रुपये प्रति टन (4-7 रुपये प्रति लीटर) की कमी कर चुके हैं और बाकी कंपनियां भी खाद्य तेल की दामों में कमी करने जा रही हैं।’

और घट सकती है कीमत

चतुर्वेदी के अनुसार इस वर्ष घरेलू सोयाबीन और मूंगफली की फसल में तेजी नजर आ रही है, जबकि सरसों की बुवाई की शुरुआती रिपोर्ट काफी अच्छी है और भरपूर रैपसीड फसल होने की उम्मीद है। ऐसे में, तेल के दाम आगे भी घटने की उम्मीद जताई जा रही है। साथ ही विश्व खाद्य तेल आपूर्ति की स्थिति में भी सुधार हो रहा है जिससे अंतरराष्ट्रीय दामों में और गिरावट आने की संभावना जताई जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *