Breaking News

समीर वानखेड़े पर करोड़ों की डील के आरोपों की आज शुरू होगी जांच, दिल्ली से मुंबई पहुंच रही NCB की विजिलेंस टीम

आर्यन खान ड्रग केस (Aryan khan drugs case) की जांच कर रहे NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) पर करोड़ों की डील करने के आरोपों की आज इंटरनल जांच की जाएगी. जांच के लिए 5 लोगों की टीम आज सुबह 9 बजे मुंबई के लिए रवाना होगी. इस टीम के साथ विजिलेंस चीफ ज्ञानेश्वर सिंह भी होंगे. ये सभी अधिकारी NCB की विजिलेंस विंग के हैं. वहीं इस बीच, NCB ने केपी गोसावी के बॉडीगार्ड और इस मामले में स्वतंत्र चश्मदीद गवाह प्रभाकर सैल को भी समन जारी किया है. कहा जा रहा है कि टीम प्रभाकर सैल से भी पूछताछ करेगी. प्रभाकर को आज दोपहर 12 बजे NCB दफ्तर बुलाया गया है.

मिली जानकारी के अनुसार कल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर वानखेड़े पर फर्जी बर्थ सर्टिफिकेट लगाकर सरकारी नौकरी पाने के आरोप के बाद महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने सीएम उद्धव ठाकरे से मुलाकात की. नवाब ने समीर वानखेडे के खिलाफ SIT जांच कराने की मांग की है. वहीं समीर वानखेड़े और एनसीबी के अन्य अधिकारियों के खिलाफ रिश्वत के आरोपों की जांच के लिए विजिलेंस की टीम आज जांच करेगी. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कल समीर वानखोड़े दिल्ली के एनसीबी दफ्तर पहुंचे थे लेकिन वहां विजिलेंस जांच अधिकारी ज्ञानेश्वर सिंह और समीर वानखड़े का आमना-सामना नहीं हो सका था. समीर वानखड़े के एनसीबी दफ्तर पहुंचने के कुछ ही देर बाद ही विजिलेंस चीफ ज्ञानेश्वर सिंह एनसीबी दफ्तर से कहीं निकल गए थे. वहीं दोपहर करीब 2 बजे वानखड़े के ऑफिस से निकलते ही कुछ देर बाद ज्ञानेश्वर सिंह एनसीबी दफ्तर पहुंच गए थे.

क्रूज पार्टी रेड के वक्त वह गोसावी के साथ थे प्रभाकर सैल

दरअसल, हाल ही में केपी गोसीवी के बॉडीगार्ड प्रभाकर सैल ने एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर आर्यन खान मामले (Aryan Khan) में शाहरुख खान (Shahrukh Khan) से पैसे लेने की कोशिश करने का आरोप लगाया था. प्रभाकर ने बताया कि वह गोसावी के पर्सनल बॉडीगार्ड के रूप में काम करते हैं. क्रूज पार्टी रेड के वक्त वह गोसावी के साथ थे. प्रभाकर का कहना है कि इस घटना के बाद से जब से गोसावी रहस्यमय तरीके से गायब हो गए हैं, तब से उनकी जान को खतरा है. प्रभाकर ने अपने हलफनामे में सैम डिसूजा नाम के एक शख्स का भी जिक्र किया है. उनके मुताबिक सैम डिसूजा से उनकी मुलाकात एनसीबी दफ्तर के बाहर ही हुई थी. उस वक्त वह केपी गोसावी से मिलने पहुंचे थे. दोनों एनसीबी दफ्तर से लोअर परेल के पास बिग बाजार के पास अपनी अपनी कार में पहुंचे. एफिडेविट में दावा किया गया है कि गोसावी सैम नाम के शख्स से फोन पर 25 करोड़ रुपये से बात शुरू कर 18 करोड़ में फिक्स करने की बात कर रहे हैं. उन्होंने 8 करोड़ रुपये समीर वानखेड़े को देने की भी बात कही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *