Breaking News

शुक्रताल : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शुक्रताल में गंगा को लाने के प्रयास होंगे सफल :- स्वामी ओमानंद

रिपोर्ट :- सुरेंद्र सिंघल, विशेष संवाददाता, दैनिक संवाद, सहारनपुर मंडल,उप्र:।।

शुक्रताल (दैनिक संवाद न्यूज)। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रमुख तीर्थ स्थल शुक्रताल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गंगा को लाने के गंभीर प्रयास कर रहे हैं। उस स्थल जहां सुखदेव जी महाराज ने अर्जुन के पौत्र महाराजा परीक्षित को हजारों साल पूर्व भागवत की कथा सुनाई थी, की सेवा और देखभाल कर रहे स्वामी ओमानंद ने आज वरिष्ठ पत्रकार सुरेंद्र सिंघल से बातचीत में कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल पर गंगा के लाने के प्रयास सफल होंगे। स्वामी ओमानंद तीन सदी के युगदृष्टा, रीत राग, स्वामी कल्याण देव के परम शिष्य हैं। स्वामी कल्याण देव ने अपने जीवन में अनेक शिक्षण संस्थाएं स्थापित कराईं और उन्होंने शुक्रताल तीर्थस्थल का जीर्वोद्धार कराया। उसी सिलसिले को उनके परम शिष्य स्वामी ओमानंद आगे बढ़ा रहे हैं। 

स्वामी ओमानंद ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रताल आए थे और उन्होंने हमारी इस प्रमुख मांग गंगा को फिर से इस तीर्थ स्थल पर लाने का पक्का भरोसा दिया था। यह करोड़ों रूपयों की योजना है। गंगा वर्तमान में शुक्रताल से पांच किलोमीटर की दूरी पर बहती है। वहां से शुक्रताल के घाटों तक बड़े-बड़े मोटे पाइपों के जरिए गंगाजल को यहां तक लाया जाएगा। यहां पर तीर्थ यात्री गंगा में स्नान कर पुण्य कमा सकेंगे, गंगा की आरती भी हुआ करेगी। अभी वर्तमान में जो नदी शुक्रताल से होकर प्रवाहित हो रही है उसमें सोलानी नदी का पानी प्रवाहित होता है। ओमानंद जी ने बताया कि 1975-1980 तक गंगा का पानी यहां तक आता था। लेकिन धीरे-धीरे रेत भरने वह मार्ग पूरी तरह से अवरूद्ध हो गया और गंगा शुक्रताल से पांच किलोमीटर दूर हो गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रताल के विकास के लिए नौ करोड़ रूपए की जो धनराशि दी थी उसका सदुपयोग हो गया है।

 

नदी किनारे सुंदर और अच्छे घाटों का निर्माण और विस्तार हुआ है। स्वामी कल्याण देव जी के नाम पर दोहरे विशाल दरवाजे का निर्माण हुआ हैं, अच्छी सड़कें बनी हैं, साफ सफाई और विद्युत व्यवस्था उत्तम हुई हैं। स्वामी ओमानंद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को एक श्रेष्ठ योगी और विश्वसनीय राजनेता बताया। कहा कि उनके शासन में कानून व्यवस्था सुदृढ़ हुई है। बहु-बेटियों, छात्राओं समेत सभी वर्गों के लोगों को सुरक्षा मिली है। उत्तर प्रदेश के  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मथुरा, अयोध्या, काशी, प्रयाग जैसी सभी प्रमुख तीर्थ स्थलों पर हिंदू तीर्थ यात्रियों और श्रद्धालुओं के लिए उच्च स्तरीय सुविधाएं प्रदान कराने पर विशेष ध्यान दे रहे हैं। शुक्रताल पर भी उनकी विशेष कृपा बनी हुई हैं और उन्हें पूरी आशा है कि जल्द ही शुक्रताल आने वाले तीर्थ यात्रियों को गंगा मईया में स्नान करने का मौका मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *